अमेरिका के प्रसिद्ध टाइम्स स्क्वायर की चर्चा पूरी दुनिया में होती है. टाइम्स स्क्वायर न्यूयॉर्क की सबसे भीड़-भाड़ वाली और पंसदीदा जगहों में गिना जाता है. ऐसे में इस बार 15 अगस्त को न्यूयॉर्क में रहने वाले भारतीय पहली बार टाइम्स स्क्वायर पर भारत का तिरंगा लहराते हुए देखेंगे. ऐसा पहली बार होगा जब न्यूयॉर्क शहर के इस खास स्थान पर तिरंगा फहराया जाएगा. Also Read - सोनिया का मोदी सरकार पर हमला, कहा- सरकार संवैधानिक मूल्यों और प्रजातांत्रिक व्यवस्था के विपरीत खड़ी है

भारत अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस आने वाले 15 अगस्त को मनाने जा रहा है. भले ही कोरोना की वजह से समारोह में रंग न भरे हों, लेकिन भारत ने अपनी छाप अमेरिका तक छोड़ने का मन बना लिया है. दरअसल न्यूयॉर्क, न्यूजर्सी और कनेक्टिकट के फेडरेशन ऑफ इंडियन एसोसिएशन 15 अगस्त 2020 को टाइम्स स्क्वायर पर तिरंगा लहराकर भारत की आजादी का जश्न मनाएगा. Also Read - स्वतंत्रता दिवस पर रूस, भूटान सहित कई देशों ने दी शुभकामनाएं, पीएम मोदी और विदेश मंत्री ने किया शुक्रिया अदा

भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब इंडिया का राष्ट्रीय ध्वज किसी और देश के इतने भव्य और नामचीन स्थान पर लहराएगा. इस खास कार्यक्रम में न्यूयॉर्क में भारत के काउंसिल जनरल रणधीर जायसवाल गेस्ट ऑफ ऑनर होंगे. एफआईए के नाम के साथ ये स्वतंत्रता दिवस नया अध्याय जोड़ देगा. Also Read - स्‍वतंत्रता दिवस पर डेविड वार्नर ने फेहराया तिरंगा, भारत को बताया दूसरा घर

International Yoga Day

फेडरेशन ऑफ इंडियन एसोसिएशन ने कहा कि वो इस साल का15 अगस्त को यादगार बनाएंगे और स्वतंत्रता दिवस समारोह में टाइम्स स्क्वायर पर तिरंगा फहराने के साथ ही एम्पायर स्टेट बिल्डिंग को 14 अगस्त को केसरिया, सफेद और हरे रंग की रोशनी से रोशन किया जाएगा.

न्यूयॉर्क में भारत का महावाणिज्य दूतावास 15 अगस्त को एक वर्चुअल स्वतंत्रता दिवस समारोह की मेजबानी करेगा, जिसमें भारतीय समुदाय के लोग लाइव स्ट्रीम के जरिये शामिल होंगे. आपको बता दें कि एफआईए 1981 से हर साल स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इंडिया डे परेड का आयोजन करता है. हालांकि, इस साल कोरोना महामारी के मद्देनजर परेड आयोजित नहीं की जा रही है.

इसके पहले न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वेयर पर जिस दिन राम मंदिर की पूजा हुई थी उसी दिन भगवान राम के साथ राम मंदिर को दिखाया गया था. इससे पहले वॉशिंगटन डीसी में भारतीय समुदाय के लोग पारंपरिक कपड़ों में जश्न मनाते दिखे थे. यहां तक कि से वाइट हाउस तक रथयात्रा भी निकाली गई. वहीं, कैलिफोर्निया, वॉशिंगटन, टेक्सस और फ्लोरिडा के मंदिरों में भी विशेष आयोजन किए गए .