नई दिल्ली: अपने अधिकारों के लिए लड़ते-लड़ते आज महिलाएं काफी आगे बढ़ गई हैं. आज वह पुरुषों के पीछे नहीं बल्कि कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं. विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं ने अपनी काबिलियत का प्रमाण दिया है. अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2020 के मौके पर आज हम आपसे ऐसी महिलाओं के बारे में बात करने जा रहे हैं जिन्होंने खेल जगत में प्रथम स्थान पाकर यह साबित किया है कि चाहे क्षेत्र को भी क्यों ना हो, लेकिन अगर मन में भरोसा और कुछ कर दिखाने का जज्बा है तो सभी चीजें काफी आसान हो जाती हैं. आज हम आपसे भारत की उन 10 महिला स्पोर्ट्स खिलाडियों के बारे में बता रहे हैं जिन्होंने भारत का नाम पूरी दुनिया में रोशन किया है. Also Read - कई टीमों के टूर्नामेंट से नाम वापस लेने के बाद BWF ने थॉमस और उबेर कप को किया स्थगित, जानें पूरी डिटेल

Rani Rampal @Instagram

रानी रामपाल: भारतीय महिला टीम की कप्तान रानी रामपाल विश्व की पहली हॉकी खिलाड़ी हैं, जिन्होंने प्रतिष्ठित वर्ल्ड गेम्स एथलीट ऑफ द ईयर अवॉर्ड अपने नाम किया. पिछले साल भारत ने एफआईएच सीरीज फाइनल्स जीता था और रानी को टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया था. रानी की अगुवाई में ही भारत ने तीसरी बार ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाई किया. Also Read - BAI अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद इस टूर्नामेंट में खेलने को तैयार हुईं वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधू

MC MarryKom

MC MarryKom

मैरी कॉम: छह बार विश्व चैंपियन बनने का कमाल करने वाली मैरी दुनिया कि अकेली महिला मुक्केबाज हैं. भारत के लिए महिला मुक्केबाजी में ओलंपिक का मेडल हासिल करने वाली मैरी पहली भारतीय हैं. साल 2003 में मैरी को अर्जुन पुरस्कार से नवाजा गया था इसके तीन साल बाद 2006 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था. साल 2009 में उनको सबसे बड़े खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार दिया गया. मैरी के नाम 6 बार विश्व चैंपियनशिप का खिताब जीतने का विश्व रिकॉर्ड है. अब तक कोई भी महिला मुक्केबाज ने ऐसा नहीं किया है. दुनिया की सबसे दमदार मुक्केबाजों में शुमार मैरी ने अब तक एक और भी कमाल का रिकॉर्ड दर्ज है. अपने लगातार सात टूर्नामेंट में खेलते हुए पहली ही बार में मेडल जीतने वाली मैरी दुनिया की अकेली मुक्केबाज हैं. Also Read - T-20 World Cup 2018 के सेमीफाइनल में जगह नहीं मिलने से आज भी निराश हैं मिताली राज

Navjot Kaur

Navjot Kaur

नवजोत कौर: भारत की महिला रेसलर नवजोत कौर ने एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचा. इस चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल करने वाली वह भारत की पहली महिला रेसलर हैं. नवजोत ने फ्रीस्टाइल रेसलिंग में 65 किलोग्राम की कैटेगरी की फाइनल बाउट में जापान की मिया इमाई को इकतरफा मुकाबले में 9-1 से हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया. 2014 में कॉमनवेल्थ गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली 28 साल की नवजोत 2013 की एशियन चैंपियनशिप में फाइनल बाउट हारकर सिल्वर मेडल ही हासिल कर सकीं थीं.

Anshu_Jamsenpa

Anshu_Jamsenpa

अंशु जमसेंपा: अरुणाचल प्रदेश की अंशु जमसेंपा ने दुनिया की सबसे उंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर चौथी बार फतह की. 2011 में अंशु इससे पहले दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर दस दिन के अंतराल में दो बार चढ़ी थीं और ऐसा करने वाली वह दुनिया की पहली मां बनीं. अपने अभियान के दौरान वह चाओ ला (5330 मीटर), रेनो (5360) और कांगमा ला (5533 मीटर) की मुश्किल चढ़ाई से गुजरी थीं.

File photo of PV Sindhu (Photo Credit: BWF)

पीवी सिंधु: विश्व चैंपियन पी वी सिंधु ने लगातार तीसरी बार ईएसपीएन की ‘वर्ष की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी’ का पुरस्कार जीता. भारत की ओर से ओलम्पिक खेलों में महिला एकल बैडमिंटन का रजत पदक जीतने वाली वे पहली खिलाड़ी हैं. इससे पहले वे भारत की नैशनल चैम्पियन भी रह चुकी हैं. सिंधु ने नवंबर 2016 में चीन ऑपन का खिताब अपने नाम किया है. ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु ने BWF वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में शानदार जीत दर्ज कर पहली बार इस खिताब को अपने नाम किया है. वह वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय शटलर हैं. फाइनल मुकाबले में उन्होंने जापान की नोजुमी ओकुहारा को 21-7,21-7 से मात दी. 24 अगस्त 2019 को हुए सेमीफाइनल मैच में उन्होंने चीन की चेन यु फी को 21-7, 21-14 से हराया.

Mithali-Raj

Mithali Raj

मिताली राज: टेस्ट क्रिकेट मैच में दोहरा शतक बनाने वाली पहली महिला है. मिताली राज महिला एक दिवसीय अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट में 6,000 रनों को पार करने वाली एकमात्र महिला क्रिकेटर हैं. मिताली राज भारत की पहली ऐसी महिला खिलाड़ी है जिन्होंने टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 2 हजार या इससे ज्यादा रन बनाये. राज एकमात्र खिलाड़ी (पुरुष या महिला) हैं जिन्होंने एक से अधिक आईसीसी ओडीआई विश्व कप फाइनल में भारत का नेतृत्व किया.

Aanchal Thakur (Twitter)

Aanchal Thakur (Twitter)

आंचल ठाकुर: मनाली की आंचल ठाकुर ने भारत की ओर से स्कीइंग में इतिहास रचा. इंटरनैशनल स्कीइंग कॉम्पिटिशन में पदक जीतने वाली वह भारत की पहली खिलाड़ी हैं, जिन्होंने एल्पाइन एज्डेर 3200 कप में ब्रॉन्ज अपने नाम किया.

Ahead of ICC Women's World T20, Jhulan Goswami Reflects on Evolution of Women's Cricket in India

File Image of Jhulan Goswami_Getty

झूलन गोस्वामी: झूलन गोस्वामी महिला क्रिकेटरों में दुनिया की सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाली वनडे गेंदबाज़ हैं. मई 2017 में झूलन महिला क्रिकेट की सबसे सफल गेंदबाज बनी थी. उन्होंने आस्ट्रेलिया की कैथरीन फिट्जपैट्रिक का लगभग एक दशक पुराना रिकार्ड तोड़ा था. झूलन ने 2002 में पदार्पण किया था और उन्हें 2007 में आईसीसी की साल की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर भी चुना गया.

बुला चौधरी: बुला चौधरी एक लंबी दूरी तय करने वाली तैराक है. वह विश्व की पहली ऐसी महिला है. जिन्होंने 5 महाद्वीपों के सातों समुंदर तैरकर पार किए हैं और अपनी जीत हासिल की.

Aruna Reddy Gymnastic

Aruna Reddy Gymnastic

अरुणा रेड्डी: अरुणा रेड्डी भारतीय महिला जिमनास्ट है, जो अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भारत का प्रतिनिधित्व करती है. उन्होंने मेलबर्न में आयोजित 2018 विश्व कप जिम्नास्टिक में महिलाओं की वॉल्ट स्पर्धा में कांस्य पदक जीता. वह जिम्नास्टिक विश्व कप में पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनी.