International Yoga Day 2020 Theme: आज भारत समेत दुनिया के सभी देश अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रहे हैं. पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसकी पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी. जिसके बाद 21 जून को ”अंतरराष्ट्रीय योग दिवस” घोषित किया गया. 11 दिसम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र में 177 सदस्यों द्वारा 21 जून को ” अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” को मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली. प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रस्ताव को 90 दिन के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय है.Also Read - Surya Namaskar: योग के बाद अब सूर्य नमस्कार भी होगा ग्लोबल, मकर संक्रांति पर 75 लाख लोग करेंगे सूर्य नमस्कार

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2020)  थीम
इस साल कोरोना वायरस के चलते लोगों को घर पर रहकर ही सोशल डिस्टेंसिंग के साथ योग करना होगा. हर साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की थीम डिसाइड की जाती है. इस साल की थीम “Yoga For Health – Yoga From Home”. रखी गई है. इस साल कोरोनावायरस महामारी यानी कोविड 19 के चलते लोगों को ऐसी थीम दी गई है, जो सेहत और स्वस्थ्य को बढ़ावा देगी. बता दें कि साल 2019 में इसकी थीम ‘पर्यावरण के लिए योग’ थी. Also Read - Viral Video: ITBP अफसर ने योग दिवस पर 18000 फीट की ऊंचाई पर माइनस टेम्‍परेचर में खुले बदन किया सूर्य नमस्‍कार

योग दिवस का महत्व
योग को प्राचीन भारतीय कला का एक प्रतीक माना जाता है. भारतीय योग को जीवन में सकारात्मकता और ऊर्जावान बनाए रखने के लि‍ए महत्वपूर्ण मानते हैं. इस दिन को मनाने का उद्देश्य योग के प्रति लोगों में जागरुकता पैदा करने के साथ लोगों को तनावमुक्त करना भी है. योग, भारतीय ज्ञान की पांच हजार वर्ष पुरानी विरासत है, जिसके प्रणेता महर्षि पतंजलि को माना जाता है. योग साधना में जीवन शैली का पूर्ण सार समाहित किया गया है. Also Read - International Yoga Day 2021: पीएम मोदी ने लॉन्च किया M-Yoga ऐप, जानें क्या है इसमें खास!