International Yoga Week 2020: योग हमारे देश में हजारों सालों से किया जा रहा है. योग करने से स्‍वास्‍थ्‍य और त्‍वचा को फायदा होता है, ये तो हम सभी जानते हैं पर क्‍या आपको पता है कि योग से बैली फैट भी कम होता है. Also Read - International Yoga Week 2020: बनाते हैं चुस्‍त-दुरुस्‍त, दिमाग तेज करते हैं ये योगासन, नतीजे देख शोधकर्ता हैरान

बैली फैट यानी पेट की चर्बी को कम करने में योग काफी सहायक है. वजन घटाने के लिए योग को सबसे कारगर और सरल तरीका माना जाता है. योग को लेकर सबसे बढि़या बात यह है कि इसे किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं. Also Read - International Yoga Week 2020: योग करने से पहले क्‍या खाना चाहिए?

चक्रासन

  Also Read - International Yoga Week 2020: योग करने से मिलती है सुंदर त्‍वचा, लंबे-घने बाल

पीठ के सहारे लेट जाएं, फिर घुटनों को मोड़ें और अपने पैरों के तलवे को कुछ दूरी बनाकर जमीन पर टिकाकर रखें. हाथों को शरीर की दिशा में ले जाएं. ध्‍यान रहे कि हथेलियां नीचे की ओर रहें. हाथों को मिलाकर साथ रखें और फिर शरीर को उपर की ओर उठाएं. इस अवस्‍था में तीस सेकेंड से लेकर 01 मिनट तक रहें. फिर शरीर को धीरे धीरे सतह पर ले आएं. इस अभ्‍यास को पांच बार दोहराएं.

भुजंगासन

 

उल्टे होकर पेट के बल लेट जाएं. ऐड़ी-पंजे मिले हुए रखें. ठोड़ी फर्श पर रखी हुई. कोहनियां कमर से सटी हुई और हथेलियां ऊपर की ओर. इसे मकरासन की स्‍थिति कहते हैं. धीरे-धीरे हाथ को कोहनियों से मोड़ते हुए आगे लाएं और हथेलियों को बाजूओं के नीचे रख दें. ठोड़ी को गरदन में दबाते हुए माथा भूमि पर रखे. पुन: नाक को हल्का-सा भूमि पर स्पर्श करते हुए सिर को आकाश की ओर उठाएं. फिर हथेलियों के बल पर छाती और सिर को जितना पीछे ले जा सकते हैं ले जाएं किंतु नाभि भूमि से लगी रहे. कुछ सेकंड तक यह स्थिति रखें. बाद में श्वास छोड़ते हुए धीरे-धीरे सिर को नीचे लाकर माथा भूमि पर रखें. छाती भी भूमि पर रखें. पुन: ठोड़ी को भूमि पर रखें और हाथों को पीछे ले जाकर ढीला छोड़ दें. शुरू में 30 सेकेंड करने के बाद लंबे अभ्यास के बाद इसे तीन मिनट तक किया जा सकता है. कम से कम दो से पांच बार कर सकते हैं.

धनुरासन

 

मकरासन में लेट जाएं. मकरासन अर्थात पेट के बल लेट जाएं. ठोड़ी को भूमि पर टिका दें. हाथ कमर से सटे हुए और पैरों के पंजे एक-दूसरे से मिले हुए. तलवें और हथेलियां आकाश की ओर रखें. घुटनों को मोड़कर दाहिने हाथे के पंजे से दाहिने पैर और बाएं हाथ के पंजे से बाएं पैर की कलाई को पकड़ें. सांस लेते हुए पैरों को खींचते हुए ठोड़ी-घुटनों को भूमि पर से उठाएं तथा सिर और तलवों को समीप लाने का प्रयत्न करें. जब तक आप सरलता से सांस ले सकते हैं इसी मुद्रा में रहें. फिर सांस छोड़ते हुए पहले ठोड़ी और घुटनों को भूमि पर टिकाएं। फिर पैरों को लंबा करते हुए पुन: मकरासन की स्थिति में लौट आएं.

पश्चिमोत्‍तनासन

 

पैर को सामने की ओर सीधा करके बैठ जाएं. दोनों पैर आपस में सटे होने चाहिए. पीठ को इस दौरान बिल्‍कुल सीधा रखें और फिर अपने हाथों से दोनों पैरों के अंगूठे को छुएं. ध्‍यान रखें कि आपका घुटना न मुड़े और अपने ललाट को नीचे घुटने की ओर झुकाएं. 5 सेकेंड तक रुकें और फिर वापस अपनी पोजीशन में लौट आएं.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.