लार्ज ब्लू नाम की तितलियां पिछले कई दशकोंसे गायब थीं, वैज्ञानिक कई सालों से इस पर मेहनत कर रहे थे. ब्रिटेन में गायब होने के बाद ये अब दोबारा से दिखाई दे रही हैं, जो अपने आप में बड़ी बात है. इन तितलियों को वापस पाने के लिए 5 सालों की कड़ी मेहनत लगी है और इसे वापस पाने के लिए प्रकृति को पूरे नए तरीके से सजाया गया है और उसका तान-बाना बुना गया ताकि एक बार फिर से लार्ज ब्लू तितलियां वापस आ सकें.

इन तिलियों के वापस आने के बाद ऐसा माना जा रहा है की यह दुनियाभर में किसी भी कीड़े औऱ प्रजाति को वापस पाने का एक मौका है. दरअसल बीते 150 सालों में इस दुर्लभ तितली को देखा नहीं गया. वहीं, इस साल गर्मियों में ग्लूस्टरशायर के रॉडबोरो कॉमन में लगभग 750 तितलियां नजर आईं.

लार्ज ब्लू नाम की तितलियां पिछले कई दशको से गायब थीं, लेकिन अब इनकी वापसी हो चुकी है, इनके वापस आने के लिए पांच सालों तक तितलियों के रहने लिए जगह तैयार की गई है औऱ आखिरकार 150 सालों बाद कॉट्सवोल्ड की पहाड़ियों पर करीब 750 से नजर आईं जिन्हें देखकर पर्यावरणविद बेहद खुश हैं. इसके पीछे प्रफेसर जेरेमी थॉमस और डेविड सिमकॉक्स का काम और उनके सालों की मेहनत है.

लार्ज ब्लू तितलियां को वापस लाने के लिए लाल चींटी की बड़ी भूमिका रही है, इन्हें वापस बुलाने के लिए इनके लिए खास माहौल तैयार किया है. इनके लिए जो मैदान तैयार किया उसमें लाल चींटी आई ताकि तितलियां यहां पनप सके. साथ ही कई सारें गायें लाई गई जिनके वहां होने से घास पैदा हुए और ज्यादा चीटियां पनपने लगीं. दुर्लभ तितली का वापस आना किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं माना जा रहा है.