अक्सर हम ये सुनते हैं कि उम्र बढ़ने के साथ रिश्ते में वो बात नहीं रहती जो यंग ऐज में हुआ करती थी. अब एक नए शोध में कुछ ऐसा सामने आया है जो आपने सोचा भी नहीं होगा. Also Read - भाई ने 'बहन' को बनाया पत्नी, और कर रहा था दूसरी शादी, फिर जो हुआ, उसे जान चौंक जाएंगे आप

Also Read - पति पर केस के लिए जिस वकील से मिली, उसी से हुआ प्यार, फिर शुरू हुई लव, सेक्स और धोखे की कहानी

Fashion: Esha Gupta ने बिकिनी टॉप के साथ पहना Shrug, जानलेवा है ये लेटेस्ट स्टाइल… Also Read - Aashram 2: रक्षक बना भक्षक, रंगरलिया मनाते दिखे बाबा, बॉबी देओल के 'आश्रम 2' ने मचाया धमाल

इस अध्ययन में पता चला है कि उम्रदराज दंपतियों के जीवन में लड़ाई-झगड़े का स्थान हास्य ले लेता है और उनके जीवन में कम उम्र दंपतियों की तुलना में मिठास घुलती जाती है.

अमेरिका के कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने 87 ऐसे मध्यम आयुवर्ग तथा बुजुर्ग दंपतियों के बीच बातचीत के वीडियो का आकलन किया, जो 15 से लेकर 35 साल से विवाहित थे.

happy-couple-laughing-1

शोधकर्ताओं ने दंपतियों के 13 साल तक दोनों के बीच भावनात्मक बातचीत पर नजर रखी. उन्होंने पाया कि उम्र बढ़ने के साथ ही दंपतियों में हास्य बोध और एक-दूसरे के प्रति मृदुलता का भाव बढ़ता गया.

VIDEO: ट्रेनर के साथ Sunny Leone ने की जमकर मेहनत, पहली बार की ऐसी एक्सरसाइज

इमोशन पत्रिका में प्रकाशित इस अध्ययन के अनुसार उम्रदराज दंपतियों में हास्य तथा प्रेम जैसे सकारात्मक व्यवहार बढ़ते देखे गए वहीं एक-दूसरे की आलोचना जैसे नकारात्मक बर्ताव में कमी आई. यह अध्ययन उस धारणा के ठीक उलटा है कि बढ़ती उम्र के साथ भावनाएं घटने लगती हैं अथवा इंसान भावना शून्य हो जाता है.

यूसी बर्कले में मनोविज्ञान के प्रोफेसर रॉबर्ट लेवेन्सन कहते हैं, ‘हमारी खोज बढ़ती उम्र के विरोधाभासों पर रोशनी डालती है. अनेक मित्रों और परिजन को खोने के बावजूद उम्रदराज दंपति अपेक्षाकृत प्रसन्न होते हैं और उनमें अवसाद तथा उद्विग्नता के लक्षण कम होते हैं. विवाह उनके मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा साबित हुआ है’.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.