पुरुषों की तुलना में महिलाएं सहन किए गए ज्यादा दर्द को जल्दी भूल जाती हैं. शायद आपको ये बात सही ना लग रही हो पर ये सच है.Also Read - Mothers day 2022: प्रेगनेंसी के बाद अकसर मांओं को हो जाती हैं ये समस्याएं

चोट लगने पर पुरुषों को ज्‍यादा दर्द तो होता ही है, साथ ही वे लंबे समय तक इस दर्द को याद करते रहते हैं. Also Read - पीरियड्स के दर्द से राहत पाने के लिए पिएं अजवाइन और गुड़ की चाय, जानें बनाने की विधि और फायदे

चूहे व मानव पर किए गए एक शोध में इसकी पुष्टि हुई है. कनाडा की टोरंटो मिसिसॉगा विश्वविद्यालय (यूटीएम) के शोधकर्ताओं के शोध में पता चला है कि महिला व पुरुष पूर्व के कष्टदायी अनुभवों को अलग-अलग तरीके से याद रखते हैं. Also Read - गर्भावस्था में अस्थमा होने पर दिखाई देते हैं ये लक्षण, जानें World Asthma Day पर इसके कारण और बचाव

पुरुष पूर्व के कष्टदायी अनुभवों स्पष्ट तौर पर याद रखते हैं, जबकि महिलाएं दर्द के प्रति बेपरवाह रवैया अपनाती हैं. इसी तरह के परिणाम नर व मादा चूहों में देखने को मिले.

पुरुष जब दर्द का अनुभव दोबारा करने पर अतिसंवेदनशील रवैया दिखाते हैं, लेकिन महिलाएं अपने दर्द के पूर्व अनुभव से तनाव नहीं लेती हैं.

यूटीएम के सहायक प्रोफेसर लोरेन मार्टिन ने कहा, “अगर दर्द की याद, दर्द के लिए प्रेरक का कार्य करती है और हम समझते हैं कि दर्द को कैसे याद रखा जाए तो यादाश्त पर क्रियाविधि का इस्तेमाल करके हम कुछ पीड़ितों की मदद करने में समर्थ हो सकते हैं.”
(एजेंसी से इनपुट)