नई दिल्‍ली: क्‍या आप भी अपना IQ लेवल बढ़ना चाहते हैं. तो वैज्ञानिकों ने इसका एक तरीका ढूंढ़ निकाला है.Also Read - Yoga For Back Pain: 5 योग मुद्राएं जो आपको पीठ दर्द से छुटकारा दिला सकती हैं | Watch Video

कई शोधों में ये बात सामने आई है कि अगर आप प्रतिदिन मेडिटेशन या ध्‍यान करते हैं तो आपका आईक्‍यू लेवल काफी बेहतर हो सकता है. Also Read - Health Benefits Of Custard Apple: सीताफल हैं सेहत के लिए काफी गुणकारी, जाने सीताफल यानी कस्टर्ड एप्पल के 5 फायदे | Watch Video

meditationAlso Read - Alia Bhatt Skincare Routine: आलिया भट्ट ने शेयर किया अपनी खूबसूरत त्वचा का राज, आप भी करें ट्राई, Watch Video

एसोसिएशन फॉर एप्‍लायड साइकोफिजियोलॉजी एंड बायोफीडबैक में न्‍यूरोफीडबैक डिवीजन के पूर्व प्रमुख सीगफ्रायड ऑथमर ने भी यही बात कही है. उन्‍होंने कुछ लोगों को मेडिटेशन करवाकर ये निष्‍कर्ष निकाले हैं. उनके रिसर्च में पाया गया कि मेडिटेशन करने वाले लोगों के आइक्‍यू लेवल 23 प्रतिशत तक बढ़े.

बाद में इस स्‍टडी की फॉलोअप स्‍टडी में पाया गया कि ना केवल लोगों का आईक्‍यू बेहतर हुआ बल्कि इससे जो परिणाम मिले वे लंबे समय तक बने रहे. ऐसे लोगों में रचनात्‍मकता, एकाग्रता और आत्‍म चेतना में काफी बढ़ावा हुआ.

Meditation student

न्‍यू इंग्‍लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में भी ये बात कही गई है कि हर व्‍यक्ति को दिन में 12 से 15 मिनट तक मेडि‍टेशन करना चाहिए. गौरतलब है कि इससे पहले भी कई शोधों में ये बात सामने आ चुकी है कि ध्‍यान से स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार होता है. शरीर में चुस्‍ती बनी रहती है, बीमारियां दूर होती हैं. एक शोध में ध्यान व योग से दिमाग तेज होने वाले दावे की पुष्टि की गई थी. शोध में कहा गया था कि ध्यान व सांस से जुड़े व्यायाम जैसे प्राणायाम दिमाग को मजबूत बनाने व कार्यों पर ध्यान केंद्रित करने में मददगार साबित होते हैं.

ये शोध डबलिन के त्रिनिटी कॉलेज में किया गया था. शोध के प्रमुख खोजकर्ता इयॉन रॉबर्टसन ने कहा, ‘हमारा शोध बताता है कि सांस पर केंद्रित व्यायाम व दिमाग की स्थिरता के बीच मजबूत संबंध है.’