Dharamveer Jakhar School Rajasthan: राजस्‍थान में एक ऐसा पुलिस वाला है जो लोगों के लिए मिसाल बन गया है. इसने ऐसा काम किया है जिसे करना सब के बस की बात नहीं. Also Read - Pawri Ho Rahi Hai: राजस्थान पुलिस का मजेदार Video, कहा- ये हमारी लट्ठ और यहां पावरी हो...

इनका नाम है धर्मवीर जाखड़. धर्मवीर राजस्थान के चुरू जिले में पुलिस विभाग में कार्यरत हैं. धर्मवीर का मानना है कि अगर देश में बदलाव लाना है, विकास चाहिए तो ये सब शिक्षा से ही संभव हो सकता है. Also Read - सिरफिरा प्रेमी पिस्‍टल की नोक पर प्रेमिका को साथ ले जाने के लिए घर में घुसा, पुलिस पहुंची तो चला दी गोली

धर्मवीर जाखड़ हमेशा से ही बच्‍चों को शिक्षा देने के क्षेत्र में योगदान देना चाहते थे. यही वजह थी कि जब उन्‍होंने चुरू जिले में कचरा बीनने और भीख मांगने वाले बच्चों को देखा तो उन्‍हें शिक्षा देने का सोचा. Also Read - Rajasthan Police Constable Result 2021: राजस्थान पुलिस कांस्टेबल का रिजल्ट इस हफ्ते जारी होने की है संभावना, ऐसे कर सकते हैं डाउनलोड 

फिर क्‍या था, जाखड़ ने चुरू जिले में ही 1 जनवरी 2016 को स्कूल खोला. जिसका नाम रखा आपणी पाठशाला (अपनी पाठशाला). इस स्‍कूल में गरीब और कमजोर आर्थिक स्थिति वाले बच्चों को फ्री में पढ़ाया जाता है.

यह स्कूल चुरू में महिला पुलिस स्टेशन के पास है. यहां 450 बच्चों को मुफ्त में शिक्षा दी जाती है. इसमें खासतौर पर ऐसे बच्‍चे हैं, जो पहले भीख मांगते थे या कचरा उठाते थे.

 

जाखड़ अपने फेसबुक अकाउंट पर इसकी काफी तस्‍वीरें भी शेयर करते हैं. देखें-

 

 

इस स्कूल में छात्रों को पढ़ाई के अलावा यूनिफॉर्म, किताबें, बैग और अन्य जरूरी चीजें भी फ्री में ही दी जाती हैं.

एक इंटरव्‍यू में जाखड़ ने कहा था कि जब वे इन बच्‍चों से मिले तो उन्‍हें पता चला कि इनमें से कई ऐसे हैं जिनके ना तो अभिभावक हैं और ना ही दूसरे कोई रिश्‍तेदार. तब उन्‍हें महसूस हुआ कि अगर किसी ने इनकी मदद नहीं की तो ये पूरी जिंदगी भीख ही मांगेंगे. पहले तो उन्‍होंने इन बच्‍चों को प्रतिदिन एक घंटे पढ़ाना शुरू किया. इसके बाद स्‍कूल खोला.

अब इस स्‍कूल में आसपास के इलाके के गरीब परिवारों के बच्‍चे भी आते हैं. धर्मवीर के सहकर्मी भी इस काम में उनकी मदद करते हैं. दूर-दूर से लोग धर्मवीर से मिलने आते हैं. डोनेशन मिलने लगी है. प्रशासन साथ दे रहा है.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.