Motivational Success Story: दुनिया ऐसे लोगों से भरी है जो अगर कुछ करने की ठान लें तो उन्‍हें तमाम अड़चनें, परेशानियां रोक नही सकतीं. ऐसे लोग दुनिया भर के लिए मिसाल बन जाते हैं.Also Read - UPSC Success Story: बच्चे से 2 साल रहीं दूर, यूपीएससी परीक्षा में मिला दूसरा स्थान, पढ़ें अनु कुमारी की कहानी

इन्‍हीं में से एक हैं KFC ब्रांड के संस्‍थापन कोलोनल सेंडर्स. वही KFC जहां का चिकन आपको बेहद पसंद है. इन्‍हीं की तस्‍वीर आपको ब्रांड के लोगो पर भी दिखाई देती होगी. Also Read - MP News: पिता का हौसला-बेटे का जुनून, वेल्डर पुत्र ने JEE Mains की परीक्षा में हासिल किए 99.938 पर्सेंटाइल, कही ये बात

कोलोनल 1906 में 16 साल के थे, उन्होंने सेना में भर्ती होने के लिए अपनी उम्र को लेकर झूठ बोला था. फिर 1907 में वे पूरे सम्मान के साथ सेना से अलग हुए. Also Read - UPSC Success Story: दसवीं की गणित में 36, अंग्रेज में मिले 35 अंक, फिर भी टॉप किया यूपीएससी परीक्षा, जानिए रोचक कहानी तुषार डी सुमेरा की

20 साल की उम्र में पत्नी छोड़कर, और बच्चे को लेकर जा चुकी थी. उसके बाद एक छोटे से कैफे में एक कुक बने और पत्नी को घर लौटने के लिए मनाया.

65 साल की उम्र में रिटायर हुए. रिटायर होने के बाद उन्‍होंने सोचा कि वे आखिर वसीयत में क्‍या लिखें. उनके पास है क्‍या. वे तो बस अच्‍छे कुक हैं. फिर क्‍या था, उन्होंने $87 उधार लिए. घर की रसोई में ही अपनी पुरानी रेसिपी से थोड़ा चिकन फ्राई कर, दरवाजे से दरवाजे बेचने निकल पड़े.

आपको जानकर हैरानी होगी कि कई रेस्टोरेंट वालों ने उनके चिकन को रिजेक्‍ट कर दिया. हजारों रिजेक्‍शन मिलने के बाद उन्‍होंने अपना ही ब्रांड बनाने की सोची.

Colonel Sanders को 1009 रिजेक्‍शन के बाद हां मिली. तब उन्‍होंने वो व्यापार शुरू किया. जो आज अरबों का है और KFC के नाम से जाना जाता है.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.