बोटोक्स (Botox) के बारे में आपने भी सुना होगा. पर शायद इसकी पूरी प्रक्रिया और इससे जुड़े तथ्‍यों के बारे में नहीं जानते होंगे. विशेषज्ञों का कहना है कि बोटोक्स कराने से पहले इससे जुड़ी हर जानकारी लेनी चाहिए.

Tips: क्‍या प्रेग्‍नेंसी में हल्‍दी वाला दूध पीया जा सकता है?

फेमस स्किन डॉक्‍टर बी.एल. जांगिड़ ने फेस-लिफ्ट, एंटी-एजिंग या शिकन उपचार, चिकनी, निर्दोष त्वचा के लिए बोटोक्स उपचार से जुड़े मिथकों के बारे में बताया है.

– बोटोक्स इंजेक्शन का दर्द किसी भी अन्य सामान्य इंजेक्शन की तरह होता है. बोटोक्स शॉट के बाद दर्द निवारक दवा की आवश्यकता नहीं होती. बोटोक्स सुई बहुत ही महीन सुई होती है और इंजेक्शन की मात्राभी बहुत कम होती है. उपचार से पहले एक सुन्न जेल भी लगाया जाता है.

botox

– ये धारणा गलत है कि बोटोक्स कराने के बाद चेहरा प्लास्टिक जैसा दिखता है. इससे केवल उन मांसपेशियों को आराम मिलता है, जहां बोटोक्स इंजेक्ट किया जाता है. एक अनुभवी पेशेवर द्वारा ठीक से किया गया बोटॉक्स उपचार, चेहरे को लिफ्ट देने के लिए त्वचा को शिकन मुक्त, नरम और युवा बनाता है.

– बोटोक्स का असर लगभग तीन महीने तक रहता है. उसी क्षेत्र का पुन: उपचार किया जा सकता है यदि कोई साइड इफेक्ट या प्रतिक्रिया नहीं होती.

– मांसपेशियों को रिलेक्स करने के लिए स्किन क्रीम त्वचा की निचली परत तक नहीं पहुंचती. इसलिए ये कहना गलत है कि कुछ स्किन क्रीम बोटोक्‍स की तरह काम करती हैं.

Tips: जब शरीर में कम होता है कैल्शियम, सबसे पहले दिखते हैं ये 7 लक्षण…

– बोटोक्स, प्लास्टिक सर्जरी नहीं है. बोटोक्स में केवल एक सुई से कुछ मिनटों के लिए इंजेक्ट किया जाता है. प्लास्टिक सर्जरी का परिणाम स्थायी है जबकि बोटोक्स अस्थायी है.

– ये अमीर लोगों का इलाज नहीं है. इसे कोई भी करा सकता है. बोटोक्स का एक सत्र 6,000 रुपये से लेकर 20,000 रुपये तक में हो जाता है. जो इस बात पर निर्भर करता है कि यह किस हिस्से में किया गया है. चूंकि प्रभाव लगभग 4-6 महीनों तक रहता है, प्रति माह लागत बहुत अधिक नहीं होती.
(एजेंसी से इनपुट)

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.