नाभि खिसकने की समस्‍या ऐसी है जो बेइंतहा परेशान कर देती है. पेट दर्द, दस्‍त और उल्टियां तक लग जाती हैं.

लोगों को समझ नहीं आता कि क्‍या करें. डॉक्‍टर के पास जाते हैं और दवाएं लेना शुरू कर देते हैं. पर क्‍या दवाओं के माध्‍यम से ही इस समस्‍या को दूर किया जा सकता है या इसका घरेलू उपाय भी है. हम बताते हैं.

पीढ़ी दर पीढ़ी इन उपायों को अपनाया जा रहा है. कई लोगों को इनसे फायदा भी पहुंचता है. अगर आप चाहें तो इन्‍हें ट्राई कर सकते हैं.

– नौकासन, पवनमुक्तासन और हलासन करना चाहिए. ये ऐसे आसन हैं जो इस समस्या को दूर करने में काफी मददगार साबित होते हैं

– काफी सालों से इस तरीके को आजमाया जा रहा है. इसमें खास तरीके से नाभि के आसपास के हिस्‍से की मसाज की जाती है. ये आम मसाज नहीं होती, इसे किसी विशेषज्ञ से करवाना पड़ता है. जब आपको इस तरह की समस्या हो तो उस दौरान भारी चीजें उठाने से परहेज करना चाहिए.

– सरसों का तेल काफी लाभकारी है. ये इस एरिया में होने वाले दर्द को भी दूर करता है. जब नाभि खिसक जाए तो तीन से चार दिन नियमित रुप से खाली पेट सरसों के तेल की बूंदे नाभि में डालनी चाहिए.

– अगर नाभि खिसकने की वजह से पेट में तेज दर्द के साथ दस्‍त हो रहे हों तो एक गिलास पानी में एक चम्मच चायपत्ती मिलाकर उबाल लें और छानकर गुनगुना पी जाएं. इससे दर्द में आराम मिल जाएगा.

– एक चम्मच आंवला पाउडर लें. इसमें नींबू का रस मिलाएं. नाभि के चारों ओर इस पेस्ट को लगाएं. तब तक लेटे रहें जब तक ये सूख ना जाए. दिन में दो बार नाभि पर ये पेस्‍ट लगाएं.