Neem Leaves Tea : नीम के फायदों के बारे में तो हर कोई जानता है. आयुर्वेद में भी नीम (Kaise Banaye Neem ki Chai) के कई फायदे बताए गए हैं. नीम एक ऐसा पेड़ है जिसकी जड़, तना से लेकर सभी चीजें काफी फायदेमंद होती है. नीम (Neem Ki Chai Ke Fayde)के सेवन से खून तो साफ होता ही है साथ ही यह स्किन में ग्लो भी लाता है. बहुत से लोग सुबह उठते ही नीम की पत्तियां चबाते हैं जो कि काफी लाभकारी होती हैं. लेकिन यह खाने में बेहद कड़वी होती है. ऐसे में अगर आप सुबह नीम के पत्तियां चबाना नहीं चाहते तो हम आपके लिए नीम की चाय बनाने की विधि लाए हैं. नीम की चाय सेहत के लिए काफी अच्छी साबित होती है. यह सांसो से आने वाली बदबू को दूर करती है. आइए जानते हैं कैसे बनाएं नीम की चाय-

नीम की चाय बनाने की विधि-

– किसी गहरे तले के बक्तन में पानी उबाल लें.
-एक कप में मुठ्ठीभर नीम की पत्‍तियां डालें और ऊपर से उबला पानी डालें.
– नीम की पत्‍तियों को पानी में 5-7 मिनट तक भिगोए रखने के बाद पत्‍तियों को छान लें.
– फिर कप के पानी में शहद या नींबू का रस मिक्‍स करें.

नीम की चाय पीने के फायदे

खून करती है साफ- नीम के औषधीय गुण कई तरह से हमें फायदा पहुंचाते हैं. यह खून को साफ करके हमें सेहतमंद बने रहने में मदद करती है.

फंगल इन्फेक्शन में- नीम अपने एंटी बैक्टेरियल गुणों के लिए जाना जाता है. ये शरीर को फंगल इन्फेक्शन से होने वाले नुकसान से जैसे दाद, खाद, खुजली, फोड़े-फुंसियों आदि से बचाता है. इन इन्फेक्शन पर नीम की पत्तियों को पीसकर लगाने से फायदा मिल जाता है. फंगल इन्फेक्शन की वजह से बालों में डैंड्रफ हो जाता है. नीम को पानी में उबालकर बाल धोने से डैंड्रफ से निजात मिल जाता है.

कैंसर- नीम की पत्तियों का सेवन कैंसर और ट्यूमर जैसी खतरनाक बीमारियों में भी बेहद फायदेमंद है. नीम की पत्तियों में पॉली सैकेरॉइड्स और लियोम्नॉइड्स होते हैं जो शरीर के भीतर कैंसर और ट्यूमर सेल्स को बढ़ने से रोकते हैं.

तनाव- नियमित रूप से नीम की चाय पीने से तनाव को कम किया जा सकता है.