मोटापा कम करना आसान नही है. खतरा और बढ़ जाता है जब मोटापे की वजह से एक दर्जन बीमारियां होने का अंदेशा होता है.Also Read - खाना देखते ही टपकने लगती थी लार! इतना खाते थे...इतना खाते थे अदनान सामी कि....

Also Read - पुलिस की गिरफ्त में आया 250 किलो वजनी ISIS आतंकी, ले जाने के लिए मंगाया गया ट्रक

Tips: एक महीने में घटेगा 6 किलो तक वजन, अगर आज से ही अपनाएंगे ये डेली रूटीन… Also Read - गोल-मटोल बच्‍चों को देखकर अच्‍छा लगता है! जानें वे किस तरह के खतरे में हैं...

क्यों होता है मोटापा

नोएडा स्थित जेपी हॉस्पिटल में बैरिएट्रिक काउंसलर एवं न्यूट्रीशनिस्ट श्रुति शर्मा का कहना है कि ओबेसिटी का निदान मरीज की शारीरिक जांच एवं उसके इतिहास के आधार पर किया जाता है. मोटापे के कारण बीमारियों की संभावना की जांच के लिए व्यक्ति के ०बीएमआई (बॉडी मास इंडेस्क) का मापन किया जाता है. उन्होंने कहा कि जीन इस बात के निर्धारण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं कि आपके शरीर में कहां और कितना वसा जमा होगा. अगर किसी व्यक्ति के माता-पिता में से एक या दोनों मोटापे का शिकार हैं तो बच्चों में मोटापे की संभावना बढ़ जाती है.

Tips: गुड़ खाने से बढ़ता है खून, होते हैं ये 7 बेमिसाल फायदे…

श्रुति के अनुसार, कैलरी युक्त आहार, जंक फूड, पेय पदार्थों का अधिक सेवन करने तथा फलों और सब्जियों का सेवन कम करने से व्यक्ति मोटापे का शिकार हो सकता है. मोटापा किसी भी उम्र में, यहां तक कि छोटे बच्चों में भी हो सकता है.

Childhood Obesity

क्या है खतरा

डॉक्टर्स के अनुसार मोटापे की वजह से स्ट्रोक, कैंसर, प्रजनन क्षमता में कमी, दिल, ऑस्ट्रियोआर्थराइटिस, टाइप 2 डाइबिटीज, पित्ताशय की बीमारी, सांस, उच्च रक्तचाप, लिवर में मोटापा, नर्व डिसऑर्डर जैसी कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं.

Tips: चुकंदर खाने से बढ़ता है खून, क्‍या ये बात सच है? क्‍या लाल रंग देखकर खाते हैं लोग?

क्या करें

श्रुति शर्मा ने कहा कि नियमित व्यायाम से आप अपना वजन नियन्त्रण में रख सकते हैं. तेज चलना, तैरना और साइकल चलाना अच्छे व्यायाम हैं. दिन में तीन बार नियमित आहार लें.

कुछ लोग भूख लगने पर किसी भी समय खाते हैं. वे बिना समय देखे मीठे व्यंजनों और जंकफूड का सेवन करते हैं. कम कैलरी से युक्त आहार, फल, सब्जियों और साबुत अनाज का सेवन करें. मिठाई, अल्कोहल का सेवन सीमित मात्रा में करें. सैचुरेटेड फैट के सेवन से बचें.

दैनिक जीवन में पानी का पर्याप्त सेवन करना चाहिए. खीरे, नींबू, अदरक, पुदीने का रस वजन घटाने, विशेष रूप से पेट से फैट कम करने में मददगार है. फैट कम करने में ग्रीन टी, बैरीज, मेवे, दही, दालें, ओट, अंडा, फैटी फिश का सेवन भी मददगार साबित हो सकता है.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.