ऑफिस जाने वाले 60 प्रतिशत से ज्‍यादा लोग फिट नही हैं. ये बात एक नए शोध में सामने आई है.

शोध किया था हेल्थ और फिटनेस ऐप हेल्दीफाईमी ने. कार्पोरेट इंडिया के फिटनेस लेवल पर जारी रिपोर्ट में पता चला कि 63 प्रतिशत कार्यकारी (एग्जीक्यूटिव) 23 से अधिक बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) के साथ अधिक वजन वाले हैं. इस रिपोर्ट में 12 महीने की अवधि के दौरान 20 से अधिक कंपनियों में करीब 60,000 कामकाजी पेशेवरों की सक्रियता के स्तर और खान-पान की समीक्षा की गई.

इन पेशेवरों में दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता जैसे महानगरों के साथ झागड़िया, खंडाला व वापी जैसे दूरस्थ स्थानों में कारखानों में काम करने वाले कर्मचारी, सेल्स प्रोफेशनल, आईटी प्रोफेशनल, बैंकर और अन्य शामिल हैं. इन पेशेवरों की आयु 21 से 60 साल के बीच में है.

ऑफिस जाने वाले 60 प्रतिशत से ज्‍यादा लोग फिट नही हैं. ये बात एक नए शोध में सामने आई है.

बात जब दिनभर में उठाए गए कदमों की संख्या की आई तो इनमें कन्ज्यूमर गुड्स सेक्टर के कर्मचारी सबसे आगे रहे. उनके द्वारा उठाए गए कदमों की औसत संख्या प्रतिदिन 5,988 रही.

सबसे कम एक्टिव फाइनेंशियल सेक्टर के कर्मचारी रहे जिनके द्वारा उठाए गए कदमों की औसत संख्या प्रतिदिन के हिसाब से 4,969 रही जबकि रिटेल, मैन्युफैक्चरिंग, मार्केटिंग और आईटी जैसे अन्य सेक्टर में यह संख्या 5,000 से अधिक रही.

आंकड़े के मुताबिक, पुरुष व महिलाएं, दोनों के लिए दौड़ लगाना सबसे अधिक पसंद की जाने एक्टिविटी है. कामकाजी पुरुषों में मशहूर अन्य एक्टिविटी में साइकिलिंग, जिम वर्कआउट और स्वीमिंग है. महिलाएं इंडोर एक्टिविटी करना ज्यादा पसंद करती हैं जैसे कि योग और अन्य घरेलू वर्कआउट.

इस आंकड़ों से पता चलता है कि वर्कआउट के लिए सप्ताहांत सबसे कम गतिविधि वाला दिन होता है। इस दिन कैलोरी बर्न रेट हर रोज की तुलना में 300 से घटकर औसतन 250 तक गिर जाता है.
(एजेंसी से इनपुट)