नई दिल्ली: यूरिन इंफेक्शन जिसे यूटीआई भी कहा जाता है यीरिन के रास्ते में होने वाला इंफेक्शन है. 10 में से 6 लोग आज इस समस्या से परेशान हैं. यूरिन इंफेक्शन सबसे ज्यादा महिलाओं को होता हैं. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि महिलाओं के अलावा यह समस्या बच्चों में भी पाई जाती है. बच्चों में यह समस्या काफी बड़ी होती है. जिसका इलाज करना काफी जरूरी है. आइए जानते हैं बच्चों में इसके लक्षण और इससे बचाव के तरीके-

बच्चों में यूरिन इंफेक्शन के लक्षण

– बुखार
– यूरिन पास करने में दर्द
– बार-बार पेशाब आना
– उल्टी
– चिड़चिड़ापन
– पेट में दर्द

यूरिन इंफेक्शन से बचने के उपाय

– अधिक पानी पीने से बच्चे को बार-बार पेशाब आएगी और इससे विषाक्त पदार्थों को जल्दी बाहर निकालने में मदद मिलती है. अगर बच्चा छोटा है तो उसे अधिक से अधिक दूध पिलाएं.

– बच्चा 6 महीने से अधिक उम्र का है, तो उसके लिए करौंदा, ब्लूबेरी और अनानास का रस सबसे अच्छे विकल्प हो सकते हैं. इन फलों के गुण मूत्रपथ में हानिकारक जीवाणुओं के विकास व वृद्धि को रोकने में मदद करते हैं.

– सूक्ष्मजीवों को रोकने के लिए हेल्दी बैक्टीरिया का होना महत्वपूर्ण व आवश्यक है. प्रोबायोटिक्स शरीर के प्राकृतिक वनस्पति और जीवाणु प्रतिरोध में सुधार करके यू.टी.आई. का इलाज और रोकथाम करने में मदद करते हैं.

– हानिकारक जीवाणु व विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में नींबू मदद करता है. बच्चे को प्रतिदिन नींबू का रस पिलाने से उन्हें भविष्य में इंफेक्शन का खतरा नहीं होता.