मुंबई: अभिनेत्री पायल घोष ने मानसून सीजन के दौरान लोगों के उदास और चिंतित महसूस करने पर बात की. पायल सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर को लेकर प्रशिक्षित हैं. पायल कहती हैं, “बहुत सारे लोग मानसून के दौरान खुद को उदास और यहां तक कि चिंतित महसूस करते हैं. यह सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर का संस्करण है. काले बादल और कम धूप मूड को प्रभावित करती है और इस दौरान एक व्यक्ति उदास और खुद को अकेला महसूस कर सकता है.” Also Read - Cyclone Nisarga: अम्फान के बाद निसर्ग तूफान की दस्तक, अरब सागर में गतिविधियां हो रहीं तेज

उन्होंने जोर देकर कहा कि गरज और बिजली लोगों को “चिंतित होने और पैनिक अटैक के लिए ट्रिगर कर सकती है”. इसे लेकर पायल ने स्वस्थ जीवनशैली और ध्यान रखने की बात कही. उन्होंने कहा, “इन सभी मामलों में हम लोगों को ध्यान करने और आनंददायक गतिविधियों में समय देने के लिए कहते हैं. हम उन्हें सुंदर हरियाली, फूल, सूरज निकलते ही आसमान में इंद्रधनुष की तलाश करने को कहते हैं. ताजी, साफ और धुली सड़कों और इमारतों के आसपास या बच्चों को खेलते हुए देखकर अच्छा महसूस किया जा सकता है.” Also Read - बचपन के अपने फेवरेट काम को अब लॉकडाउन के दौरान पूरा कर रही हैं ये एक्ट्रेस, लिखा...

पायल कहती हैं, “हमें जो पसंद है, उस पर ध्यान केंद्रित करना और उन चीजों को सहन करने की कोशिश करना जो हम नहीं बदल सकते हैं. ऐसा दृष्टिकोण हमें बहुत मदद करता है”. अभिनेत्री को आखिरी बार 2017 में ‘पटेल की पंजाबी शादी’ में देखा गया था. इस फिल्म में दिवंगत दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर, परेश रावल, वीर दास और प्रेम चोपड़ा ने भी काम किया है. इसे संजय छेल ने निर्देशित किया है. Also Read - Payal Ghosh Latest hot photos: Payal Ghosh is on mediterranean diet for upcoming project, पायल घोष की हॉट तस्वीरें