नई दिल्‍ली: पेप्सिकी की चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफिसर इंदिरा नूई 12 साल के अपने कार्यकाल के बाद अपने पद से हटेंगी. कंपनी ने एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी है. न्यूयॉर्क की कंपनी पेप्सिको के प्रेसिडेंट रामोन लागुएर्टा इंदिरा नूई की जगह लेंगे. बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने 54 साल के रामोन लागुएर्टा को सर्वसम्मति से इंदिरा नूई की जगह कंपनी के नए सीईओ होंगे.Also Read - लॉस एंजिल्स ओलंपिक 2028 में क्रिकेट को शामिल करने के लिए दावा करेगा ICC

Also Read - घर बैठे ऑर्डर करें लेज-कुरकुरे, एक घंटे में हो जाएगी डिलिवरी

कहां हुआ जन्‍म Also Read - तीखे विरोध के बाद झुकी पेप्सिको, गुजरात के आलू किसानों के खिलाफ केस वापस लेगी, ये है पूरा मामला

चेन्‍नई के तमिलभाषी परिवार में इनका जन्‍म हुआ. इंद्रा नूयी ने यहां तक पहुंचने में एक लंबा सफर तय किया.

indiranooyi

IIM से MBA

इंद्रा नूई ने फिजिक्‍स, केमिस्‍ट्री और मैथ्‍स में बैचलर डिग्री ली. फिर IIM कोलकाता से MBA किया. दो साल तक भारत में काम किया.

रिसेप्‍शनिस्‍ट की नौकरी

आपको जानकर हैरानी होगी कि इंद्रा नूई रिसेप्‍शनिस्‍ट के तौर पर भी काम कर चुकी हैं. येल स्‍कूल ऑफ मैनेजमेंट में पढ़ाई के दौरान वे ये काम करती थीं. ऐसा वे अपनी पढ़ाई का खर्च उठाने के लिए करती थीं. रात से सुबह तक की रिसेप्‍शनिस्‍ट की शिफ्ट इसलिए की जिससे वे पहले जॉब इंटरव्‍यू के लिए ड्रेस खरीद सकें.

indra nooyi

पेप्सिको की जर्नी

तीन नौकरियां बदलने के बाद इंद्रा नूयी पेपिस्‍को में गईं थीं. फिर वहीं 12 तक काम किया. साल 2001 में उन्‍हें प्रमोट कर प्रेजिडेंट बनाया गया. साल 2006 में वे पहली फीमेल CEO चुनी गईं.

2007 में इंद्रा नूयी को पद्म भूषण अवार्ड से सम्‍मानित किया गया था. हालांकि, वह 2019 तक कंपनी की चेयरमैन बनी रहेंगी ताकि इससे जुड़ी प्रक्रिया आसानी से निपटाई जा सके. लागुएर्टा को कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में भी जगह मिली है जो 3 अक्टूबर से प्रभावी होगा.

अपने फैसले पर इंदिरा नूई ने कहा, पेप्सिको की अगुवाई करना मेरे जीवन के लिए बहुत बड़ा सम्मान रहा. मुझे इस बात पर गर्व है कि पिछले 12 साल में हमने न सिर्फ शेयरहोल्डर्स बल्कि उन सभी के लिए भी काम किया जिस समुदाय के लिए हम काम करते हैं.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.