Pista Benefits: पिस्‍ता खाने से शरीर में कभी प्रोटीन की कमी नहीं होती. पिस्‍ता को संपूर्ण आहार की श्रेणी में रखा जाता है. आप भी जानें पिस्‍ता खाने के वो फायदे, जिनसे आप अनजान होंगे.

पिस्‍ता आप कैसे भी खाएं, फायदा ही पहुंचता है. पर भुना हुआ पिस्ता, पादप आधारित आहार में संपूर्ण प्रोटीन वाला आहार बताया गया है. इसे खाद्य पदार्थों किनवा, काबुली चना और सोयाबीन की तरह एक ‘पूर्ण प्रोटीनयुक्त’ आहार की श्रेणी में रखा गया है.

अमेरिकी पिस्ता किसानों के निकाय एपीजी की एक ताजा रिपोर्ट में कहा गया है, अमेरिकी खाद्य एवं औषिध विनियामक एजेंसी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (यूएसएफडीए) ‘संपूर्ण प्रोटीन’ युक्त आहार को परिभाषित करते हुए कहा है कि यह ऐसा आहार होता है जो जिसमें ‘सभी आवश्यक अमीनो एसिड पर्याप्त मात्रा में’ होते हैं.

लगभग सभी पूर्ण प्रोटीन मांस, मछली, अंडे और डेयरी उत्पादों से आते हैं. सोया, पौधा आधारित प्रोटीन हैं जिसे यूएसएफडीए द्वारा पूर्ण प्रोटीन बताया है.

एपीजी ने कहा, ‘एक नए विश्लेषण से भुना हुआ पिस्ता आम तौर पर पूर्ण प्रोटीन के रूप में स्वीकृत परिभाषा पर खरा उतरता है.’ इसमें कहा गया है कि भुने हुए पिस्ता में उपलब्ध प्रोटीन की गुणवत्ता को मनुष्य के लिए अमीनों एसिड की जरूरत और उसकी सुपाच्यता के पैमाने पर 81 प्रतिशत अंक दिया गया है. दूध के प्रोटीन को इस हिसाब से 80 प्रतिशत अंक दिया जाता है.

एपीजी के विज्ञान सलाहकार अरियन्ना कारुगी के अनुसार, ‘भुना पिस्ता अब उन लोगों के लिए एक पूर्ण प्रोटीन स्रोत माना जा सकता है जो पांच साल से अधिक उम्र के हैं.’
(एजेंसी से इनपुट)