नई दिल्ली: बाल झड़ना और स्किन से संबंधित समस्याएं आम हो चुकी हैं. हर दूसरा इससे परेशान है. महिलाएं ही नहीं, अब तो पुरुष भी बाल झड़ने की शिकायत लेकर डॉक्टर के पास पहुंचने लगे हैं. पर ऐसा हो क्यों रहा है? आज से करीब एक दशक पहले तक ये समस्या उतनी ज्यादा नहीं थी जितनी आज है. आखिर हम अपने पुरखों की उम्र की अपेक्षा जल्दी बूढ़े क्यों हो रहे हैं.

सिर धोने से पहले करें ये एक काम, कभी नहीं झड़ेगा एक भी बाल…

आपके जेहन में भी इसी तरह के सवाल होंगे. जिनका जवाब तो कोई डॉक्टर ही दे सकता है. इसलिए इन सवालों के जवाब जानिए इंटेलिजेंट ऐजिंग की डर्मेटोलाॅॅजिस्ट डॉक्टर आरुषि पारसी भंडारी से.

डॉ आरुषि बताती हैं कि उनके पास ऐसे कई मरीज आ रहे हैं जिन्हें 40 की उम्र में भी पिंपल्स की समस्या है. इनकी वजह हार्मोनल इनबेलेंस और शरीर में पोषक तत्वों की कमी है.

डॉक्टर बाल झड़ने और समय से पहले ऐजिंग के ये कारण गिनाती हैं-

ek_hair-fall

– प्रदूषण की वजह से लोगों को कई तरह की समस्याएं होती हैं. चूंकि वो हवा ही साफ नही है, जिसे आप सांस ले रहे हैं ऐसे में बॉडी से टॉक्सिंस भर जाते हैं.

– हम उस गुणवत्ता का भोजन नहीं ले पाते जो हमारे पूर्वज लिया करते थे. अनाज उगाने में कई तरह के केमिकल्स का प्रयोग हो रहा है जो सेहत के लिए अच्छा नही है.

– हम पेट भर भोजन तो कर लेते हैं पर हमें ये पता ही नहीं होता है कि उसमें पोषक तत्व हैं या नहीं. और अगर हैं भी तो कितनी मात्रा में. ऐसे में शरीर में कई पोषक तत्वों की कमी हो जाती है.

इन 10 नेचुरल चीजों से चेहरे पर आएगा इतना निखार, फेंक देंगे फेयरनेस क्रीम…

– हमारी रोजमर्रा की आदतों में कई ऐसी हैं जो हमारे लिए नुकसानदेह हैं. जैसे प्लास्टिक की बोतलों में पानी पीना. माइक्रोवेव में प्लास्टिक के टिफिन में खाना गर्म करके खाना. इसके अलावा प्लास्टिक के टिफिन में खाना रखना.

– बाल धोने के लिए लोग जिन शैंपू का इस्तेमाल करते हैं उनमें पेरेबिंस होते हैं. ये हार्मोन को ब्लॉक करते हैं या उनके काम करने के तरीके को रोकते हैं. इसलिए इन्हें खरीदते समय सावधानी बरतें.

– मेकअप प्रोडक्ट्स, घर में यूज होने वाले क्लीनिंग प्रोडक्ट्स, परफ्यूम आदि के यूज से लोगों को हार्मोनल प्रॉब्लम्स हो रही हैं.

hair fallshutterstock_198054098

– प्लास्टिक कंटेनर्स या बोतलों में केमिकल कम्पाउंड होता है. ये हमारे शरीर में मौजूद हार्मोन एस्ट्रोजन की तरह मिमिक करता है. अगर ज्यदा प्लास्टिक वाली चीजों में खाते-पीते हैं तो ये शरीर में नेचुरल एस्ट्रोजन लेवल को बढ़ा देता है.

– एल्युमिनियम फॉयल बॉडी के लिए अच्छा नहीं है. एलुमीनियल फाइल्स हेवी मेटल है. ये बॉडी में टॉक्सिंस बनाता है. इसका यूज ना करें.

क्या करें
नेचर की तरफ जाएं. प्लास्टिक की चीजों का यूज ना करें. तांबे की या मिट्टी की चीजों में पानी पीएं. मेकअप में पेराबंस या पीईजी वाले प्रोडक्ट्स ना यूज करें. अधिक से अधिक पोषक तत्व लें. खूब पानी पीएं और फलों का सेवन करें. बॉडी की रेगुलर जांच कराते रहें. नियमित एक्सरसाइज करें.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.