बीमार तो कभी भी कोई भी हो सकता है. पर बीमार होने के कारणों पर बात की जाए तो कई चौंकाने वाले तथ्‍य सामने आए हैं. इनमें से एक ये है कि 80 फीसदी लोग कार्यस्‍थल की वज‍ह से या काम करके बीमार हो रहे हैं. ये बात एक नए शोध में सामने आई है.

शोध किया गया ऑस्ट्रेलिया में. इसमें पाया गया कि पांच में चार कामकाजी लोग असुरक्षित कामकाजी प्रथा के माहौल में हैं और वे इसके कारण बीमार हो रहे हैं.

रिपोर्ट को ‘वर्क शुडन्ड हर्ट’ नाम से जारी किया गया है. इस सर्वेक्षण को ऑस्ट्रेलियन काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (एसीटीयू) ने जारी किया है. शोध में 26,000 कामगारों का सर्वेक्षण किया गया.

सर्वे से खुलासा हुआ कि करीब 80 फीसदी कामकाजी लोग अपने काम के कारण घायल, बीमार या दोनों हैं, जबकि 16 फीसदी किसी ऐसे किसी व्‍यक्ति को जानते थे, जिसकी काम के दौरान मौत हो गई, या फिर काम से जुड़ी बीमारियों के कारण मौत हो गई.

47 फीसदी प्रतिभागियों ने बताया कि पिछले 12 महीनों में उन्हें काम के दौरान संकटपूर्ण या दर्दनाक स्थितियों का सामना करना पड़ा और 31 फीसदी ने कहा कि उन्हें सहकर्मियों, क्लाइंट्स या ग्राहकों द्वारा गाली दी गई, धमकी दी गई या मारपीट की गई.

पांच में से तीन कामगारों ने कहा कि पिछले 12 महीनों से वे खराब मानसिक स्वास्थ्य का सामना कर रहे हैं, क्योंकि उनका नियोक्ता असुरक्षित कामकाजी स्थितियों को सुधारने में असफल है.

रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि बहुत सारे कामकाजी लोग काम पर हिंसा, प्रताड़ना और खराब कामकाजी स्थितियों का सामना कर रहे हैं.