Red Cabbage Benefits: सर्दियों में बाजार में पत्तागोभी प्रचुर मात्रा में आती है. यूं तो पत्तागोभी को आपने हरे रंग का ही देखा होगा, पर बाजार में अब लाल पत्तागोभी भी आने लगी है. ये पत्तागोभी न केवल रंग में बल्कि पोषक तत्वों में भी हरी पत्तागोभी से भिन्न होती है.

सामान्य पत्ता गोभी में एक कीड़ा होता है, जो छेद कर देता है. सब्जी खराब कर देता है. लेकिन लाल पत्ता गोभी में अभी यह देखने को नहीं मिल रहा है. इसलिए लोग इसे बेझिझक खरीद रहे हैं.

लाल रंग की पत्तागोभी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट, कैल्शियम और आयरन होता है. यह गोभी अन्य बीमारियों के लिए भी लाभकारी है.

कृषि वैज्ञानिकों का मानना है कि इसमें मुख्य रूप से फाइटोकेमिकल्स, एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है, जो पोषक तत्वों का खजाना है. इसमें थायमिन, राइबोफ्लेविन, फोलेट, कैल्शियम, मैंगनीज, मैग्नीशियम, लोहा और पोटेशियम के अलावा विटामिन सी, ए, ई, बी और फाइबर मिलते हैं.

यही वजह है कि इस पत्तागोभी के सेवन से कई तरह के विटामिंस, मिनिरल्स की कमी की भरपाई हो जाती है. शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.

हमारे देश में कई जगह इसकी खेती भी शुरू हो गई है. इसमें गोरखपुर भी शामिल है. गोरखपुर से 40 किलोमीटर दूर जानीपुर कस्बे के प्रगतिशील किसान इसकी खेती कर रहे हैं.

जानकार कहते हैं कि सिर्फ रंगीन होना ही इस गोभी की खूबी नहीं है, इसमें पाए जाने वाले तत्व खून की कमी के खिलाफ सुरक्षा कवच प्रदान करते हैं. कैंसर जैसे रोगों से सुरक्षा देते हैं. इसमें विटामिन, कैल्शियम, मैग्नीशियम आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं.