नई दिल्ली: लोगों को सुबह-शाम, उठते-बैठते हमेशा अपने फोन को देखते रहने की आदत पड़ चुकी है. आज की जिंदगी में मोबाइल फोन से लोग एक मिनट भी दूर नहीं रह पाते हैं. अगर आपको भी मोबाइल फोन लत लग गई है, तो जरा सावधान हो जाएं. ऐसा करना आपके रिश्तों पर नाकारात्मक असर डाल रहा है. Also Read - 21 साल के 'बेटे' के बच्चे की माँ बनी ये महिला, पति को तलाक देकर की थी शादी, ऐसी है Love Story

Also Read - बिहार के जूनियर डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, इन मांगों पर अड़े, स्वास्थ्य सेवायें प्रभावित

एक अध्ययन में पता चला है कि दूसरों को नजरअंदाज करके अपने सेल फोन में मग्न रहने (फबिंग) से रिश्तों पर गलत असर पड़ सकता है. ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी ऑफ केंट के मनोचिकित्सकों ने किसी को नजरअंदाज करते हुए अपने फोन में लगे रहने वाले लोगों पर इसके प्रभाव का अध्ययन किया. उन्होंने इसे फबिंग का नाम दिया है. उन्होंने पाया कि फबिंग बढ़ने से आपसी संबंधों पर नकारात्मक असर पड़ता है. Also Read - लड़की से बनाए संबंध, प्रेग्नेंट हुई तो दहेज़ देकर कराई शादी, दूल्हे को प्रेग्नेंसी का चला पता, अब...

अल्जाइमर के इलाज में मदद कर सकता है चुकंदर में मौजूद बीटानिन

उन्होंने153 लोगों को इस अध्ययन में शामिल किया जिन्हें दो लोगों की बातचीत के एनिमेशन को देखने के लिए कहा गया और साथ ही यह मानने के लिए कहा गया कि उनमें से एक वह खुद हैं. हर भागीदार को तीन अलग- अलग तरह की स्थिति दी गई: बिल्कुल भी फबिंग नहीं, आंशिक फबिंग या पूरी तरह से फबिंग. नतीजों में पता चला कि जैसे ही फबिंग का स्तर बढ़ा तो लोगों की मूल जरुरतों पर खतरा पैदा हो गया. उनकी संवाद गुणवत्ता खराब रही और उनके रिश्ते ज्यादा संतोषजनक नहीं रहे.

(इनपुट पीटीआई)