आपने अपने आसपास ऐसे लोगों को देखा होगा जो हर वक्‍त थके रहते हैं. वजह पूछो तो उन्‍हें खुद भी पता नहीं होता कि क्‍या कारण है.

हो सकता है कि आपका भी यही हाल हो. अगर आप भी ऐसा ही महसूस करते हैं तो इसे बिल्‍कुल हल्‍के में ना लें. कभी-कभी हैक्टिक लाइफस्‍टाइल की वजह से ऐसा हो सकता है, पर अगर ये थकान लंबे समय तक बनी रहे तो अच्‍छी नहीं है.

डॉक्‍टर्स कहते हैं कि इस तरह की थकान, किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकती है. थकान जिन बीमारियों की वजह से होती है, यानी आप उनके रिस्‍क फैक्‍टर में हैं.

Contraceptives: ऐसे गर्भनिरोधक जिन्‍हें सबसे ज्‍यादा लोग करते हैं इस्‍तेमाल, बेहद असरदार, आप भी किसी एक को चुनें

जानें इन्‍हें-

डायबिटीज- हर साल लाखों लोग डायबिटीज टाइप-2 की चपेट में आते हैं. इस बीमारी के शुरुआती लक्षणों में थकान होना शामिल है. इसके अलावा ज्यादा प्यास, बार-बार पेशाब, चिड़चिड़ापन आदि भी इसके लक्षण हैं. इसके लिए आपको ब्‍लड टेस्‍ट कराना होता है.

रुमेटाइड आर्थराइटिस- रुमेटाइड आर्थराइटिस इम्यून सिस्टम के बिगड़ने के कारण होता है. इसमें अपना ही शरीर ज्वाइंट टिशूज पर अटैक करता है. इसके लक्षणों में एनर्जी कम होना, भूख न लगना, जोड़ों में दर्द होना शामिल है.

स्लीप डिसॉर्डर- अगर आपकी नींद लंबे समय से पूरी नहीं हुई हो तो स्‍लीप डिसॉर्डर की समस्‍या हो सकती है. इससे आपको लंबे समय तक काफी थकावट महसूस हो सकती है.

डिप्रेशन- जी हां, डिप्रेशन की वजह से आपको हमेशा थकावट की फीलिंग आ सकती है. डिप्रेशन से एनर्जी कम होती है. सोचने-समझने की क्षमता कम होती है, निगेटिविटी बढ़ती है.

एनीमिया- शरीर में रेड ब्लड सेल्स की कमी होने पर एनीमिया होता है. महिलाओं में आयरन की कमी ज्यादा होती है क्योंकि पीरियड्स और प्रेग्‍नेंसी के दौरान महिलाओं को आयरन की आवश्यकता ज्यादा होती है. आयरन की कमी से शरीर में थकावट बनी रहती है.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.