नई दिल्ली: रोटी और चावल भारतीय व्यंजनों का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. अगर आपको खाने में रोटी या चावल ना मिले तो खाना अधूरा होता है. रोटी और चावल ऐसी चीजें हैं जिसका भारत में नाश्ता, लंच और डिनर में इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन अह सवाल उठता है कि इस दोनों ही चीजों मे से कौन हमारी सेहत के लिए अच्छा और कौन नहीं. अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो आपके लिए यह सवाल और भी जरूरी हो जाता है. आपको बता दें कि रोटी और चावल में समान मात्रा में कैलोरी पाई जाती है लेकिन न्यूट्रिशन वैल्यू के मामले में ये दोनों ही एक दूसरे से काफी अलग होती हैं.Also Read - Tips to reduce belly fat: क्‍या आपकी भी लटक रही है तोंद, आजमाएं ये 5 आसान टिप्‍स

चपाती में चावल की तुलना में अधिक प्रोटीन और फाइबर होता है और आपको लंबे समय तक तृप्त रखने के लिए जानी जाती है. दूसरी ओर, चपाती की तुलना में चावल को आसानी से पचाया जा सकता है. क्योंकि इसमें स्टार्च अधिक मात्रा में पाया जाता है. रोटी और चावल की न्यूट्रिशन वैल्यू को ध्यान में रखकर दोनों की तुलना की जाए तो रोटी एक अच्छा ऑप्शनन हो सकता है. लेकिन अगर आप किसी ऐसी स्थिति से गुजर रहे हैं जिसमें आपको सोडियम लेना मना है तो ऐसी स्थिति में आपको रोटी नहीं खानी चाहिए आपको बता दें कि 120 ग्राम गेहूं में 190 mgs सोडियम की मात्रा होती है. और अगर आपको कोई परेशानी नहीं हैं तो आप रोटी को चुन सकते हैं. Also Read - Weight Loss: साधारण दूध वाली चाय से भी घटा सकते हैं वजन, कुछ दिनों में ही दिखने लगेगा असर, जानें पीने का सही समय और बनाने का तरीका

जानते हैं रोटी क्यों है चावल से बेहतर Also Read - UP: मुफ्त राशन योजना होली तक बढ़ेगी, गेहूं, दाल, नमक, तेल मिलेगा, CM ने अयोध्‍या से क‍िया ऐलान

चपाती में चावल की तुलना में अधिक फाइबर होता है. जिससे ओवर ईटिंग और बढ़ते वजन को रोका जा सकता है. इसके साथ ही चपाती प्रोटीन से भरपूर होती है, जो हमारे पेट से जुड़ा होता है. चपाती आपको पेट के भरे होने का संकेत देती है और आपके मेटाबॉलिज्म में भी सुधार करती है. इ सके साथ ही यह कैलोरी को बर्न करने में भी मदद करती है. यह आपकी भूख को कम करने के लिए शरीर को संकेत देता है. इससे अलग चावल में कैल्शियम नहीं होता. इसके साथ ही ही इसमें चपाती से कम पौटेशियम होता है.