बोस्टन: वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कपड़ा तैयार किया है जो आपके शरीर की गर्मी लेकर एक्टिविटी ट्रैकर्स जैसे पहने जा सकने वाले छोटे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को ऊर्जा दे सकता है. अमेरिका में मैसाच्युसेट्स एमहर्स्ट विश्वविद्यालय की तृषा एंड्रयू ने कहा कि पहने जा सकने वाले कई बायोसेंसर, डेटा ट्रांसमिटर और ऐसे ही उपकरणों को स्वास्थ्य की निगरानी करने के लिए रचनात्मक तौर पर लघु रूप में बनाया गया. Also Read - वैज्ञानिकों ने भारत में अलग तरह के कोरोना का पता लगाया, वायरस का एक अनूठा ग्रुप मिला

Also Read - नवोन्मेष, पेटेंट, निर्माण एवं समृद्धि की दिशा में आगे बढ़ें युवा वैज्ञानिक: पीएम मोदी

Bikini Climber के नाम से मशहूर Gigi Wu की 35 साल में मौत, ऐसे लेती थीं Selfies Also Read - Nobel 2019: लीथियम आयन बैटरी पर काम करने के लिए 3 वैज्ञानिकों को मिला केमिस्ट्री का नोबेल पुरस्कार

उन्होंने कहा कि हालांकि इन्हें काफी ऊर्जा की जरुरत होती है और ऊर्जा देने या चार्ज करने वाले यंत्र भारी हो सकते हैं. पत्रिका एडवांस्ड मैटिरियल्स टेक्नोलॉजीज़ में प्रकाशित इस अध्ययन में बताया गया है कि शरीर के ताप और एम्बियंट कूलर एयर के बीच अंतर का फायदा उठाकर शरीर की गर्मी से ऊर्जा पैदा हो सकती है. शोधकर्ताओं ने बताया कि कुछ अध्ययनों में पता चला कि आठ घंटे तक काम करने वाले किसी मनुष्य के शरीर से थोड़ी सी ऊर्जा ली जा सकती है लेकिन इसके लिए आवश्यक विशेष वस्तु या तो बहुत महंगी, जहरीली है या उतनी प्रभावकारी नहीं हैं.

Fitness: शिल्पा शेट्टी ने हवा में किया Aerial yoga, बेहद मुश्किल था उनके लिए ये टास्‍क, देखें Video

यह कपड़ा किसी छोटे उपकरण को ऊर्जा देने के लिए पर्याप्त

एंड्रयू ने कहा कि इस तरीके से हमने सस्ता वाष्पीकृत प्रिंट वाला जैव अनुकूल, लचीला और हल्की पॉलीमर फिल्म वाला सूती कपड़ा बनाया जिसमें पर्याप्त ताप विद्युत विशेषताएं होंगी. यह कपड़ा किसी छोटे उपकरण को ऊर्जा देने के लिए पर्याप्त होगा.  (एजेंसी से इनपुट)

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.