नई दिल्ली: मशहूर अदाकारा श्रीदेवी ने शनिवार को दुबई के होटल में अंतिम सांस ली. कहा जा रहा है कि उनकी मौत मैसिव कार्डियक अरेस्ट के कारण हुई. Also Read - श्रीदेवी की आखिरी फिल्म की रिलीज को हुए 3 साल पूरे, पति बोनी कपूर ने ऐसे किया याद  

Also Read - Cardiac Arrest: क्या होता है कार्डियक अरेस्ट, जानें हार्ट अटैक से किस तरह होता है ये अलग

54 साल की उम्र में उनकी मौत की खबर से पूरा देश आहत है. पर इस बीच इस बात को लेकर भी चर्चा है कि आखिर कार्डियक अरेस्ट होता क्या है? इसके लक्षण क्या होते हैं और कैसे इसे बचा जा सकता है? Also Read - जाह्न्वी कपूर ने माता-पिता को शादी की सालगिरह की ऐसे दी बधाई, स्मृति ईरानी ने किया कमेंट  

क्या है कार्डियक अरेस्ट

कार्डियक अरेस्ट तब होता है जब दिल शरीर में खून की सप्लाई करना रोक देता है. इसे सडन कार्डियक अरेस्ट यानी SCA भी कहा जाता है. ये एक मेडिकल इमरजेंसी है.

ये हैं लक्षण

इसमें इंसान बेहोश हो जाता है, या उसे सांस लेने में काफी तकलीफ होने लगती है. ऐसा होने से पहले कई लोगों को चेस्ट पेन, सांस लेने में तकलीफ या उल्टी जैसी फीलिंग होती है.

heart

किस वजह से होता है

मेडिकल टर्म में कार्डियक अरेस्ट का कारण आमतौर पर एबनॉर्मल हार्ट रिद्म को माना जाता है. इसके अलावा कार्डियक अरेस्ट के अन्य मुख्य कारणों में कोरोनेरी आर्टरी डिसीज, हर्ट अटेक, फिजिकल स्ट्रैस, मेजर ब्लड लॉस, ऑक्सीजन की कमी, अधिक व्यायाम को माना जाता है. इसके अलावा कई बार SCA के कारणों का पता लगाना मुश्किल होता है.

डॉक्टर्स कहते हैं कि SCA का कारण स्मोकिंग, मोटापा, उच्च रक्तचाप, उच्च ब्लड कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज, शराब का सेवन या खराब लाइफस्टाल भी हो सकता है.

क्या इसे रोका जा सकता है

डॉक्टर्स कहते हैं कि दिल से संबंधी सभी जरूरी जांच समय-समय पर कराते रहना चाहिए. इसके अलावा हेल्दी लाइफस्टाइल जैसे पोषण युक्त भोजन, बैलेंस डाइट और फिजिकली तौर पर एक्टिव रहने से इससे बचाव हो सकता है. हेल्दी वेट और धूम्रपान से दूर रहने से भी बचाव संभव है.