नई दिल्‍ली: सुबह की शुरुआत चाय से ना हो तो जैसे दिन की शुरुआत अच्छी नहीं लगती. लेकिन अगर आपको एसिडिटी और ओवर वेट यानी ज्‍यादा वजन जैसी परेशानियां हैं तो सुबह-सुबह मसालेदार चाय आपके शरीर की सेहत पर भारी पड़ सकती है. इसलिए दुनियाभर में हर्बल चाय का चलन बढ़ रहा है. भारत में भी हर्बल टी और ग्रीन टी की लोकप्र‍ियता बढ़ी है.

हालांकि हर्बल टी का स्‍वाद दूध वाली मसालेदार चाय के मुकाबले थोड़ा फीका जरूर होता है. पर इसे अपनाने के बाद सेहत और शरीर में जो बदलाव आएंगे, उसे देखने के बाद आपको अपने फैसले पर जरूर गर्व महसूस होगा. पेट में बना चर्बी धीरे-धीरे कम हो जाएगा और आपकी कमर पतली हो जाएगी.

डायटीशियन डॉ. प्र‍ियंका गुप्‍ता के अनुसार हर्बल टी एंटीऑक्‍स‍िडेंट, मिनर्ल्‍स और विटामिन्‍स से भरपूर होती है. यह आपके शरीर के लिए ही नहीं, बल्‍क‍ि मस्‍त‍िष्‍क को रिकवर और रिफ्रेश करने का काम भी करती है. इसमें कोई शक नहीं है कि हर्बल टी सेहत के लिए लाभदायक होते हैं, लेकिन सेहत का भरपूर मजा लेने के लिए इन्‍हें मूल रूप में लेना ही ठीक रहता है. इसलिए हर्बल टी का चुनाव करते वक्‍त इस बात का ध्‍यान रखें कि उसमें कोई अतिरिक्‍त फ्लेवर या ऑयल ना ऐड किया गया हो. हर्बल टी 100 प्रतिशत नेचुरल हो.

क्‍यों ना आप भी अपनी लाइफस्‍टाल में दूध वाली मसालेदार चाय को जरा सा खिसकाकर हर्बल टी के लिए जगह बना लें. पहले इसके फायदे जानिये, तब शायद आप बेहतर निर्णय कर पाएंगे: 

हर दिन सुबह खाएं कच्‍चा लहसुन, होंगे 5 फायदे...

हर दिन सुबह खाएं कच्‍चा लहसुन, होंगे 5 फायदे...

डिटॉक्‍स‍िफाई: हर्बल टी की सबसे खास बात यह है कि यह शरीर को अंदर से साफ कर देती है. सेहतमंद बॉडी के लिए बॉडी को डिटॉक्‍स करना बेहद जरूरी है. ऐसे में हर्बल टी सबसे आसान और सही तरीका है. इससे शरीर में मौजूद विषाक्‍त बाहर निकल जाते हैं.

पाचन: हर्बल टी पीने से पाचन तंत्र ठीक रहता है. अपच और एसिडिटी जैसी परेशानियां नहीं होतीं.

वजन: आज की लाइफस्‍टाइल में हर व्‍यक्‍त‍ि वजन घटाना चाहता है. लेकिन क्‍या ऐसा संभव हो पाता है. अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो रोजाना हर्बल टी पीने की आदत डालें. कुछ दिनों में आपको फर्क महसूस होने लगेगा. टायर जैसा निकला पेट धीरे-धीरे कम होने लगेगा. हर्बल टी फैट को गला देता है और मेटाबोलिज्‍म मजबूत करता है.

तो आज से ही हर्बल टी को अपने लाइफस्‍टाइल में शामिल करें और अपनी लाइफ में आज से बदलाव की शुरुआत करें.