अक्‍सर लोग पेट से जुड़ी समस्‍याओं को संजीदगी से नहीं लेते. पेट दर्द, अपच आदि को खुद ही दवाएं खाकर ठीक कर लेते हैं.Also Read - Breast Cancer: स्तन कैंसर के प्रसार के पीछे तंत्र की पहचान की गई, आप भी जानें वजह

पर क्‍या आप जानते हैं कि अगर पेट लंबे समय तक खराब रह रहा हो तो वो गंभीर समस्‍याओं की वजह बन सकता है. Also Read - Strong Digestion Tips: पाचन शक्ति को करना है मजबूत है तो अपनाएं ये लाजवाब उपाय, इन खास बातों का रखें ध्यान

एक हालिया अध्‍ययन में यही बातें सामने आई हैं. इसमें बताया गया है कि पेट के अस्वस्थ होने और उसमें सूजन होने से स्तन का कैंसर और भी उग्र रूप ले सकता है. इससे यह बीमारी शरीर के दूसरे अंगों तक फैल सकती है. Also Read - Strong Digestive Food: डाइजेशन सिस्टम को करना है मजबूत, तो खाने में शामिल करें ये फूड्स

अमेरिका में वर्जीनिया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के अनुसार, स्वस्थ आहार और जीवनशैली से स्तन कैंसर की तीव्रता कम करने में मदद मिल सकती है.

अध्ययन में पाया गया कि चूहे में सूक्ष्मजीवों के समूह (माइक्रोबायोम) को बाधित करने से हार्मोन रिसेप्टर-पॉजिटिव स्तन कैंसर ज्यादा उग्र हो गया.

उदर या कहीं भी रहने वाले सूक्ष्मजीवों के समूह के परिवर्तन करने के शरीर पर गंभीर असर हुए जिससे कैंसर फैलने लगा.

विश्वविद्यालय की मेलानी रुत्कोव्स्की ने कहा कि सूजन वाले उदर में ट्यूमर वाली कोशिकाएं ऊतक से रक्त और फेफड़ों में फैलती हैं.

ज्यादातर स्तन कैंसर हार्मोन रिसेप्टर पॉजिटिव होते हैं जिसका मतलब है कि उनकी वृद्धि एस्ट्रोजन या प्रोजेस्टेरोन हार्मोन से बढ़ जाएगी.

रुत्कोव्स्की ने कहा कि स्वस्थ, अधिक फाइबर युक्त आहार के साथ व्यायाम और पर्याप्त नींद ये सभी चीजें स्वास्थ्य पर सकारात्मक असर डालते हैं.
(एजेंसी से इनपुट)