टोक्यो: उन लोगों के लिए एक अच्छी खबर है, जिनकी तनाव के कारण नींद पूरी नहीं हो पाती. भारतीय मूल के एक वैज्ञानिक के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने पाया कि गन्ने और अन्य प्राकृतिक उत्पादों में पाए जाने वाला एक सक्रिय तत्व तनाव को खत्म कर नींद बढ़ा देता है. शोध में पाया गया कि वर्तमान में उपलब्ध नींद की गोलियां तनाव पर कोई असर नहीं करतीं और उनके काफी दुष्प्रभाव भी होते हैं. Also Read - Health Tips: बीमारियों से रहना चाहते हैं दूर तो रोज इतने मिनट जरूर करें इंटेंस एक्सरसाइज

महेश कौशिक और जापान के त्सुकूबा विश्वविद्यालय के योशिहिरो उरादे के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने पाया कि ऑक्टाकोसोनॉल तनाव को कम कर देता है और नींद को वापस सामान्य स्तर पर ले आता है. Also Read - साइलेंट किलर कही जाने वाली इस बड़ी बीमारी के शिकार होते हैं ये ब्लड ग्रुप वाले लोग, रहे संभलकर

यह यौगिक पदार्थ विभिन्न दैनिक खाद्य पदार्थो, जैसे कि गन्ना, चावल की भूसी, गेहूं के बीज का तेल, मधुमक्खी मोम आदि में प्रचुर मात्रा में मौजूद है. पत्रिका ‘साइंटिफिक रिपोर्ट्स’ में प्रकाशित शोध के मुताबिक, खून के प्लाज्मा में कोर्टिकोस्टेरोन का स्तर बढ़ने से मानव में तनाव बढ़ता है. Also Read - How to Stop Beard Dandruff: दाढ़ी में हो गई है रुसी? तो इन असरदार टिप्स के जरिए पाएं इस समस्या से छुटकारा

शोधकर्ताओं ने पाया कि ऑक्टाकोसैनल एक यौगिक पदार्थ है, जो गन्ने के रस में पाया जाता है. यह तनाव के कारण अनिंद्रा के उपचार के लिए उपयोगी हो सकता है.