कोरोना का खरता पूरे देश और दुनिया में तेजी से फैल रहा है, दुनियाभर के वैज्ञानिक अब तक इसका कोई तोड़ नहीं निकाल पाएं हैं

ॉ. हालांकि हर दिन इसको लेकर वैज्ञानिक कोई ना कोई नई शोध करते रहते हैं, जिसे सुनकर लोग कई बार हैरान हो जात है. ऐसे में अब इस महामारी के संकट में वैज्ञानिकों ने एक बार फिर नई शोध लोगों के सामने लेकर आई है जिसमें ये कहा गया है कि अगर आप सिंगल हैं तो आपको कोरोना का खतरा कहीं ज्यादो होगा.

जी हां ये हम नहीं बल्कि वैज्ञानिकर कह रहे हैं, दरअसल एक नई स्टडी में ये बात कही गई है कि करोनो उन लोगों को जल्दी होता है जो सिंगल है. इतना ही नहीं इसमें मौत का खतरा शादीशुदा लोगों के मुकाबले सिंगल लोगों को ज्यादा होता है. ये स्टडी स्वीडन की यूनिवर्सिटी ऑफ स्टॉकहोम ने की है और इसे लेकर उनकी तरफ से चेतावनी भी जारी की गई है, आइए जानते हैं इसके बारे में पूरी जानकारी.

स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं अपनी स्टडी में इस बात का दावा किया है कि जो लोग कुंवारे हैं और इसके साथ ही लो इनकम,कम पढ़े-लिखे और कम आय वाले देश में कोरोना का खतरा बहुत हो गयी है. बता दें कि ये स्टडी ‘स्वीडिश नेशनल बोर्ड ऑफ हेल्थ एंड वेलफेयर’ द्वारा स्वीडन में कोविड-19 से हुई रजिस्टर्ड मौतों के डेटा पर आधारित है.

इस स्टडी में 20 साल की उम्र में या उससे अधिक उम्र के लोगों को शामिल किया है, इसके साथ ही इसमें कोरोना से हुई मौतों के साथ कई बड़ी बातों औऱ फैक्टो को साथ रखकर देखा गया है. इससे ये परिणाम निकला है कि जो लोग कुंवारे हैं फिर चाहे वो महिला हो या फिर पुरुष इनमें मौत का खतरा उन लोगों के मुकाबले कहीं ज्यादा है जो शादीशुदा है. इस लिस्ट में अनमैरिड, विधवा/विधुर और तलाकशुदा लोग भी शामिल हैं.

इसके साथ ही इसमें ये भी माना गया है की पुरुषों को कोरोना का खतरा महिलाओं के मुकाबले कही ज्यादा है, या यूं कहें इनकी मौत की खतरा दोगुना से कहीं ज्यादा है. शोध में कहा गया है कि सिंगल लोगों को कम संरक्षित एनवायरनमेंट मिलता है. इसलिए, मैरिड कपल्स अनमैरिड लोगों से कम बीमार पड़ने के साथ एक स्वस्थ जीवन का आनंद ले सकते हैं. बता दें कि कोरोना वायरस से अब तक पूरी दुनिया में 3 करोड़ 74 लाख से भी ज्यादा लोग शिकार हो चुके हैं. कोरोना का सबसे ज्यादा असर अमेरिका, भारत और ब्राजील जैसे देशों पर पड़ा है.