TikTok भारत में काफी पॉपुलर है. यूथ इसे पसंद करता है. पर इसके इस्‍तेमाल पर बहस तब शुरू हुई जब इस पर प्रतिबंध लगाने की बात उठी. ये बात कही थी मद्रास उच्‍च न्‍यायालय ने. मद्रास उच्च न्यायालय ने इस दलील के साथ केंद्र सरकार से इस ऐप को प्रतिबंधित करने की सलाह दी थी कि इससे युवाओं में अश्लीलता बढ़ रही है. Also Read - अडल्ट एमएमएस से सुर्खियों में छाई थी यह टिकटॉक स्टार, सोशल मीडिया में फिर दिखाया बोल्ड अवतार

इसके बाद न्यूज ऐप इनशॉर्ट ने एक सर्वे किया. इस सर्वे में कई चौंकाने वाली बातें सामने आईं. Also Read - टिकटॉक क्वीन कहलाना पसंद करती हैं अलादीन सीरियल की यह एक्ट्रेस, दुनिया से जुदा है इनका फैशन सेंस

इस सर्वेक्षण के अनुसार, देश के 80 प्रतिशत युवा विवादित चीनी वीडियो ऐप टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के पक्ष में हैं. Also Read - Jannat Zubair Rahmani actress of Aladdin - Naam Toh Suna Hoga tiktok star new video song Siddharth Nigam टिकटॉक क्वीन और अलादीन की 'जन्नत' का जल्द लॉन्च होगा वीडियो सॉन्ग, सिद्धार्थ निगम संग करेंगी रोमांस

कहीं आप भी तो नहीं हैं DemiSexual? जानें क्‍या है ये टर्म, कैसे होती है ऐसे लोगों की पहचान…

न्यायालय के अनुसार टिकटॉक की मालिक एक चीनी टेक कंपनी बाईट डांस है, जो युवाओं को अनुचित कंटेंट उपलब्ध करा रही है. ऐसे में केंद्र सरकार का यह कर्तव्य है कि वह इस पर रोक लगाए.

वहीं, टिकटॉक के अधिकारियों का कहना है कि ऐप सभी स्थानीय नियम व कानूनों को मानने के प्रति प्रतिबद्ध है.

कंपनी के अधिकारियों ने न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस को बताया कि उन्होंने सूचना प्रौद्योगिकी नियम 2011 का पूरी तरह से पालन किया है. फिलहाल वे मद्रास उच्च न्यायालय के आधिकारिक आदेश का इंतजार कर रहे हैं, जिसके बाद वे इसकी समीक्षा करेंगे.

कुछ बड़े शहरों में किए गए सर्वेक्षण में 18 से 35 आयुवर्ग के करीब 30 हजार लोगों से पूछा गया कि क्या वे चाहते हैं कि भारत में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगना चाहिए?

इसके जवाब में अस्सी फीसदी प्रतिभागियों ने ‘हां’ में और 20 प्रतिशत लोगों ने ‘नहीं’ में जवाब दिया।
(एजेंसी से इनपुट)

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.