नई दिल्‍ली: जैसे अंगूर का सूखा हुआ रूप किशमिश और मुनक्का होता है उसी तरह खजूर का सूखा हुआ रूप छुहारा होता है. पौष्टिकता से भरपूर छुहारा गर्म तासीर है इसलिए इसकी उपयोगिता सर्दियों में बढ़ जाती है. चूंकि सर्दियां अब बढ़ गई हैं, ऐसे में अगर आप सुबह घर से जल्‍दी निकल रहे हैं और रात में देर से लौट रहे हैं तो छुहारे का प्रयोग आप तक किसी भी बामारी को फटकने तक नहीं देगा. दूध के साथ इसे पीने से तो इसके फायदे और भी बढ़ जाते हैं. आज आपको बताएंगे की दूध में छुहारा मिलाकर पीने के हमें क्या फायदे होते हैं:-

Tips: हेल्‍दी सेक्‍स लाइफ चाहते हैं तो इन चीजों को आज ही करें दुरुस्‍त…

ये पोषक तत्‍व होते हैं छुहारे में
खजूर जब सुख जाता है तो वह छुहारे का रूप ले लेता है यानी कि वह फिर छुहारा बन जाता है और छुहारे में काफी मात्रा में कैलिशियम, फाइबर, जिंक, मैग्नीशियम और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है. इसके अलावा इसमें इसमें विटामिन A, C, E, K, B2, B6, नियासिन और थियामिन सहित कई विटामिन पाये जाते हैं. ये पोषक तत्‍व हमारे शरीर की कोशिकाओं को नियमित ढंग से काम करने में मदद करते हैं. वैसे इसका सेवन सालभर भी किया जा सकता है.

कहीं आप भी तो नहीं हैं DemiSexual? जानें क्‍या है ये टर्म, कैसे होती है ऐसे लोगों की पहचान…

छुहारे के और भी लाभ
छुहारा आयरन का भी एक बड़ा स्रोत माना जाता है, जो शरीर में सबसे महत्वपूर्ण खनिजों में से एक है. आयरन रेड ब्‍लड सेल या हीमोग्लोबिन का एक प्रमुख घटक है, जो कि हमारे शरीर में ब्‍लड के सर्कुलेशन को ठीक रखने के साथ-साथ शरीर में ऑक्सीजन के प्रवाह को सही करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. एनीमिया से पीड़ित लोगों के लिए छुहारे का प्रयोग रामबाण सिद्ध होता है.

सर्दियों में आंखों में हो सूखापन या खुजली, ऐसे करें देखभाल

महिलाओं के लिए भी लाभकारी है छुहारा
सर्दी के दिनों में कई महिलाओं को मासिक धर्म से जुड़ी समसयाएं भी होती हैं. इसके लिए छुहारे फायदेमंद है. छुहारे खाने से मासिक धर्म खुलकर आता है और कमर दर्द में भी लाभ होता है. इसके अलावा अगर आपकी आवाज में भारीपन या आवाज साफ़ नहीं निकलती तो दूध में छुहारे उबालकर उस दूध को ठंडाकर पिए. दूध को पीने के बाद एक घंटे तक पानी ना पिए. इससे आवाज साफ़ होती है.

सर्दियों में तेजी से फैलती है ये बीमारी, भूलकर भी न करें नजरअंदाज

बच्चों के लिए रामबाण है छुहारा
छुहारा खाकर गर्म दूध पीने से बच्‍चों में कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग, जैसे दांतों की कमजोरी, हड्डियों का गलना इत्यादि रूक जाते हैं. इसके अलावा छुहारे खाने से पेशाब का रोग दूर होता है. बुढ़ापे में पेशाब बार-बार आता हो तो दिन में दो छुहारे खाने से लाभ होगा. छुहारे वाला दूध भी लाभकारी है. यदि बच्चा बिस्तर पर पेशाब करता हो तो उसे भी रात को छुहारे वाला दूध पिलाएं. इसके अलावा छुहारे में कैल्शियम, कॉपर, मिनरल्स, मैग्नीज और सेलेनियम पाया जाता है, इसलिए छुहारों वाला दूध हमारी हड्डियां को मजबूत करता है.

Year Ender 2018: Google पर सर्च की गईं ये Top 10 बीमारियां

स्तनपान कराने वाली महिलाएं भी लें छुहारा
स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को दूध में छुहारा उबालकर पीना चाहिए. इससे महिलाओं को फायदा तो होगा, साथ ही बच्‍चे भी स्‍वस्‍थ रहेंगे. इसके अलावा सर्दियों में अक्सर ठंड की वजह से बच्‍चों को खांसी (Cough) हो जाती है. ऐसे में अगर छुहारे को घी में भूनकर दिन में 2-3 बार सेवन करें. तो खांसी, छींक, जुकाम और बलगम में राहत मिलती है.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.