नई दिल्ली: प्रग्नेंसी हर महीला के लिए काफी खास समय होता है. इस दौरान महिलाओं को कई तरह की चीजों का ख्याल रखना पड़ता है और सावधानियां भी बरतनी पड़ती है. इस दौरान महिलाओं को खाने पीने के साथ ही कई और चीजों का भी खास ख्याल रखना चाहिए. जिसमें से एक है नहाना. आज हम आपको प्रेग्ननेंसी के दौरान नहाने का सही तरीका बताने जा रहे हैं जिससे आपका बच्चा स्वस्थ रहेगा. बहुत सी महिलाएं ऐसी है जो अपने पहले बच्चे को जन्म देने जा रही है ऐसे में उनके लिए हर चीज नई होती है. इसलिए उनका जानना जरूरी है कि आखिर प्रेग्नेंसी में कैसे नहाया जाता है. ऐइए जानते हैं- Also Read - Pregnancy Tips: मानसून के दौरान इन बातों का खास ख्याल रखें गर्भवती महिलाएं, नहीं होगी कोई परेशानी

– प्रेग्नेंसी के दौरान आप रोज नहा सकती हैं. लेकिन पानी ज्यादा गर्म नहीं होना चाहिए. ज्यादा गर्म पानी से नहाने पर ब्लड प्रेशर लो हो जाता है और कमजोर होती है. और इससे बच्चे जन्मजात विकार के साथ पैदा होते हैं. Also Read - Yogasana: कई प्रयासों के बाद भी नहीं बन पा रही हैं मां? रोजाना करें ये 3 योगाासन

– प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीनों में तीन महीनों में नहाने के लिए नल का पानी या गुनगुना पानी का ही इस्‍तेमाल करें और ज्‍यादा लंबे समय तक पानी में न रहें. नहाने के लिए ऑर्गेनिक और कैमिकल फ्री प्रोडक्‍ट का प्रयोग करें. पानी का तापमान 102 डिग्री से ज्‍यादा नहीं होना चाहिए. Also Read - Solar Eclipse 2020 Myths: जानें कितने सही हैं ग्रहण के दौरान गर्भावस्था से जुड़े ये मिथक

– प्रेग्नेंसी की दूसरी तिमाही में बच्चे का काफी हद तक विकास हो चुका होता है. इस दौरान अगर डॉक्टर आपको रोज ना नहाने की सलाह देता है तो उसे फॉलो करें. इसके अलावा ज्यादा लंबे समय तक ना नहाएं. इससे वजाइनल इंफेक्‍शन भी हो सकता है.

– प्रेग्नेंसी की तीसरी तिमाही में शरीर में दर्द और ऐंठन रहती है. इस समय नहाने से बहुत आराम मिलता है. इस दौरान महिलाओं का वजन बढ़ जाता है और उन्‍हें चलने में दिक्‍कत हो सकती है. ऐसे में बाथरूम जाने के लिए किसी की मदद जरूर लें.

– प्रेग्नेंसी के दौरान किसी भी कैमिकल युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल ना करें. यह ऐपके बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है.

– 15 से 20 मिनट से ज्‍यादा समय तक बाथ टब में न रहें, वरना वजाइनल इंफेक्‍शन हो सकता है.

– प्रेग्नेसी में नहाते समय अरोमा ऑयल का इस्‍तेमाल करने से बचें क्‍योंकि कभी-कभी इनकी वजह से एलर्जी हो सकती है.