Tulsi Ke Nuksan: तुलसी के पौधे को घर में लगाना काफी शुभ माना जाता है. हिंदू संस्कृति में तुलसी के पौधे की पूजा की जाती है. इसके साथ ही तुलसी सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होती है. बहुत से लोग रोजाना तुलसी का सेवन तो करते हैं लेकिन उन्हें इसे खाने का सही तरीका नहीं पता होता. तुलसी  (Tulsi Ke Side Effects) का सेवन करने से इम्यूनिटी बूस्ट होने के साथ ही कई तरह के फायदे भी मिलते हैं. आयुर्वेद में भी तुलसी औषधीय गुणों से भरपूर माना गया है. तुलसी के सेवन से खून का जमाव, प्रतिरक्षा को बढ़ाने के अलावा, सर्दी, खांसी, जुकाम को भगाने में भी राहत मिलती है. ऐसे में बहुत से लोग सुबह उठकर तुलसी (Tulsi Ke Patte Khane Ke Nuksan) के पत्तों को चबाते हैं. इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं. आइए जानते हैं इससे होने वाले नुकसानों के बारे में- Also Read - Side Effects Of Tulsi: सेहत के लिए फायदेमंद ही नहीं, बल्कि नुकसानदेह भी साबित होती है तुलसी

दांतों को करते हैं खराब- तुलसी के पत्तों को चबाकर खाना दांतों के लिए नुकसान दायक साबित हो सकता है. तुलसी के पत्तों में पारा और आयरन की मात्रा पाई जाती है. इसमें कुछ मात्रा में आर्सेनिक भी पाया जाता है, जिससे दांत खराब हो सकते हैं. इससे दांतों में दर्द की समस्या हो सकती है.

खून को करता है पतला- तुलसी के पत्तों को ज्यादा खाने से शरीर में खून पतला होता है. ऐसे में जो लोग वालफरिन और हेपरिन जैसी दवाओं का सेवन करते हैं उन्हें तुलसी के पत्तों का सेवन नहीं करना चाहिए.

प्रजनन शक्ति में डालता है असर- तुलसी के पत्तों का अधिक सेवन करने से प्रजनन शक्ति पर इसका असर पड़ता है. एक शोध में माना गया है कि इसके पत्तों का अधिक सेवन करने से शुक्राणुओं का संख्या कम हो जाती है.

गर्भवती महिलाओं को होता है नुकसान- गर्भवती महिलाएं अगर तुलसी के पत्तों का अधिक सेवन करती हैं तो इससे उनके और बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है.