तुलसी के कितने सारे फायदे हैं ये तो आप जानते ही है, स्वास्थ से लेकर आपकी स्किन औऱ बालों तक के लिए हर तरह से ये वरदान साबित होती है. ऐसे में इसका सेवन आजकल हर कोई हर कर रहा है. खास कर जब से कोरोना ने दस्तक दी है हर कोई तुलसी को अपनी डाइट में शामिल कर चुका है ताकि वो स्वस्थ बना रहे. लेकिन आपको ये तो पता ही होगा कि किसी भी चीज का ज्यादा अति आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है. ऐसे में तुलसी का भी अधिक सेवन आपको कई सारी चीजों से परेशान कर सकता है औऱ इसके कई सारे नुकसान भी आपको देखने को मिलेंगे. Also Read - Benefits Of Tulsi: खाली पेट तुलसी खाने से मिलने वाले इन फायदों के बारे में जान हैरान रह जाएंगे आप

तुलसी का इस्तेमाल आयुर्वेद में औषधी के रूम में किया जाता है. सर्दी-जुकाम, खांसी की परेशानी हो या फिर इम्यूनिटी को मजबूत बनाना हो, तुलसी के पत्तों का काढ़ा बेहद फायदेमंद माना जाता है. लेकिन तुलसी का अधिक सेवन करने से शरीर को कुछ नुकसान भी हो सकते है. तो चलिए आज हम आपको तुलसी के नुकसान के बारे में बताते हैं. Also Read - तुलसी कई बीमारियों का है रक्षा कवच, जानें इसके सेवन से क्या होता है लाभ

1. डायबिटीज
अगप आप डायबिटीज के मरीज हैं और आपको लगता है कि तुलसी आपकी सेहत के लिए अच्छी है तो ऐसे में आप गलत सोच रहे हैं. दरअसल डायबिटीज या हाइपोग्लाइसीमिया के मरीज हैं और साथ में शुगर की दवाएं ले रहे हैं और साथ में तुलसी ले रहे हैं तो ऐसे में आपका ब्लड शुगर कम हो सकता है और ये अच्छी बात नहीं है. Also Read - Winter Tips: आयुर्वेद में रामबाण बताई गई हैं ये देसी चीजें, सर्दियों में रोज खाएं...

2. गर्भवती महिलाएं
अगर आप मां बनने वाली हैं तो ऐसे में आपको तुलसी से दूरी बना लेना चाहिए, तुलसी में यूजेनॉल नामक तत्व पाया जाता है. ऐसे में अगर आप इसका सेवन करते हैं तो इससे आपके पीरियड शुरु हो जाते है, जिससे प्रेगनेंसी में डायरिया की समस्या भी हो सकती है.

3. खून पतला
अगर आप बहुत अधिक इसका सेवन करते हैं और दिन में हद से अदृधिक खाते हैं तो ऐसे में आपका खून पतला हो सकता है. दरअसल तुलसी के पत्तों में ऐसी प्रॉपर्टीज पायी जाती है, जो आपके खून को पतला कर देता है जो जाहिर सी बात है आपके लिए नुकसानदायक होता है.

4.जलन
तुलसी की गर्म तासरी होती है, ऐसे में अगर आप इसका अत्यधिक करते हैं तो इससे आपके पेट में जलन पैदा हो जाती है. ऐसे में आप तुलसी का सेवन सीमित मात्रा में ही करें.