Valentine’s Day 2020: वैलेंटाइन डे (Valentine’s Day) की पूरी दुनिया में धूम होती है. लव बर्ड्स इसे रोमांस करने का दिन समझते हैं. एक-दूसरे से कई वायदे करते हैं और तोहफे देते हैं.

प्‍यार और तोहफों के बीच वे इस दिन को सेक्‍स से भी जोड़ते हैं. हालांकि इस पर खुलकर बात नहीं होती. क्या वैलेंटाइन पर प्‍यार जताने का मतलब है सेक्‍स करना?

इस मुद्दे पर भी तमाम शोध किए गए हैं. इनमें इस बात पर रौशनी डाली गई है कि रिश्‍ते में कब सेक्‍स करना सही है. क्‍या वैलेंटाइन डे पर सेक्‍स ही प्‍यार का इजहार करने का सही तरीका है?

सेक्स, पार्टनर्स के बीच हेल्दी कम्युनिकेशन का एक विकल्प हो सकता है. बशर्ते आप सेक्सुअली एक्टिव होने से पहले थोड़ा इंतजार करें. किसी भी रिश्‍ते में सेक्‍स को लेकर जल्‍दबाजी करना सही नहीं माना गया है. कुछ समय पहले एक रिपोर्ट में कहा गया था कि रिलेशनशिप में सेक्स के लिए उतावलापन सही नहीं है. इसससे पता चलता है कि वह रिलेशनशिप अभी पूरी तरह से मैच्योर नहीं है. ऐसे रिलेशनशिप की लाइफ टिकाऊ नहीं होती.

हालांकि शोध ये कहते रहे हैं कि सेक्स से बेहतर बॉन्डिंग बनती है. इससे आपसी समझ बढ़ती है. पर इसका एक स्‍याह पक्ष ये है कि जब ये रिश्‍ता टूटता है तो भावनात्मक रूप से चोट भी काफी अधिक पहुंचती है.

अगर आप रिलेशनशिप के शुरुआती दिनों में सेक्सुअल रिलेशन बना लेते हैं तो शादी के बाद बेडरूम में आपके पास कुछ नया करने के लिए नहीं होता. इससे रोमांस का स्तर घटता है.

2010 में जर्नल ऑफ फैमिली साइकोलॉजी में छपी एक रिपोर्ट में कहा गया था कि जो कपल सेक्स के लिए शादी तक इंतजार करते हैं वो शादी से पहले सेक्स करने वाले कपल की तुलना में सेक्स की गुणवत्ता के मामले में ज्यादा खुशहाल होते हैं.

अगर आप पार्टनर के साथ डेट कर रहे हैं, लेकिन आप दोनों के बीच सेक्सुअल संबंध नहीं है तो आप खुलकर जिंदगी का आनंद ले सकते हैं. इससे पार्टनर के प्रेग्‍नेंट होने का खतरा नहीं रहता. एक अनुमान के मुताबिक कंडोम के इस्तेमाल के बावजूद 15 फीसदी मामले में लड़कियां प्रेगनेंट हो जाती हैं. साथ ही आपको यह समझने में आसानी होती है कि आपका पार्टनर क्या चाहता है. आपका प्‍यार केवल फिजिकल अट्रेक्‍शन भर नहीं है.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.