आमतौर पर छाती में होने वाली जलन को लोग इग्नोर कर देते हैं. लेकिन यह काफी खतरनाक साबित हो सकता है. छाती में जलन के कई कारण हो सकते हैं और इससे कई तरह की गंभीर बीमारियां भी आपको हो सकती हैं. अक्सर लोग नजर अंदाज कर देते हैं और बाद में यह बीमारियां विकराल रूप ले लेती है जिससे व्यक्ति की जान भी जा सकती है. छाती में होने वाली ये जलन कुछ मामलों में गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकते हैं. आइए जानते हैं इनके बारे में-Also Read - कैंसर फ्री होने के बाद भी Mahesh Manjrekar को क्यों है इस बात का मलाल? बोलें- अगर ऐसा होता तो अच्छा होता

इन संकेतों के नजर आने पर तुरंत करें डॉक्टर से संपर्क

– लगातार सीने में जलन रहना
– बार -बार सीने में जलन की समस्या रहना
– खाना निगलने में मुश्किल होना
– जलन के कारण उल्टी आना
– वजन अचानक कम होना
– गला बैठना Also Read - Lancet Study: भारत में पिछले साल कैंसर के करीब 62,000 नये मामलों के लिए शराब जिम्मेदार- अध्ययन

इन बीमारियों का हो सकता है खतरा

कैंसर- छाती में जलन का कारण कैंसर भी हो सकता है. ऐसे में समय रहते अगर सीने में हरोने वाली जलन का इलाज ना कराया जाए तो इससे कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. Also Read - अस्पताल जाने से पहले लगातार...बेतहाशा कुछ ढूंढ रहे थे करण जौहर के पापा, आखिर क्या था वो? और फिर...

हार्ट अटैक- सीने में जलन के कारण हार्ट अटैक का खतरा भी होता है. कई बार लोग इसे हार्टबर्न समझकर नजरअंदाज कर देते हैं.

हायटस हर्निया- जब पेट के ऊपर का भाग, डायाफ्राम के छेद (हाइटस) से निकलकर सीने के हिस्से में चला जाता है, तो उस स्थिति को हाइटस हर्निया या हायटल हर्निया कहा जाता है. जब पेट का एसिड इसोफ़ेगस यानी खाने की नली में जाने लगे तब उसे GORD कहते हैं. ऐसा तब होता है जब हाइटस हर्निया की वजह से इसोफ़ेगस का निचला वाल्व सही तरह से काम नहीं कर पाता है. आपका इसोफ़ेगस पेट में बनने वाले एसिड से सुरक्षित नहीं होता है इसलिए आपके इसोफ़ेगस में गंभीर परेशानी हो सकती है, जिसकी वजह से सीने में जलन, सीने में दर्द, मुंह में खट्टा सा स्वाद और निगलने में परेशानी हो सकती है.