पिछले कुछ समय में हार्टअटैक के मामले तेजी से बढ़े हैं. पहले जहां 40 साल से ज्‍यादा उम्र के लोग इसका शिकार होते थे, वहीं अब 30-32 साल में भी ऐसे मामले सामने आ रहे हैं.

खराब जीवनशैली इसकी प्रमुख वजह है. भागदौड़ में लोग अपने लिए वक्‍त ही नहीं निकाल पाते. उनके पास एक्‍सरसाइज करने और अपनी फिटनेस के बारे में सोचने का वक्‍त ही नहीं है.

रजाई या कंबल में मुंह ढक कर सोना है बेहद खतरनाक, जानें आपके साथ क्‍या होता है?

पर डॉक्‍टर्स ने अब एक नई बात कही है. ये बात, हाल ही में हुए एक शोध के आधार पर कही गई है.

शोध किया गया कनाडा के मैकमास्टर यूनिवर्सिटी में. यहां के अध्यापक मार्टिन गिबाला ने कहा कि अब लोग कहीं भी और कभी भी Stair Snacking ‘स्टेअर स्नैकिंग’ की मदद से स्वयं को स्वस्थ रख सकते हैं और अपनी फिटनेस को बरकरार रख सकते हैं.

प्रोफेसर गिबाला ने कहा कि ऑफिस टॉवर में काम करने वाले या फिर ऊंची इमारतों में रहने वाले लोग सुबह, दोपहर और शाम को सीढ़ियों पर चढ़-उतर कर वर्कआउट कर सकते हैं और शरीर को बेहतर बनाए रखने में यह काफी प्रभावशाली है.

Tips: चुकंदर खाने से बढ़ता है खून, क्‍या ये बात सच है? क्‍या लाल रंग देखकर खाते हैं लोग?

इस अध्ययन में शामिल शोधकर्ताओं का ऐसा मानना है कि अगर कोई दिन भर में दो से तीन बार सीढ़ियों से चढ़ता या उतरता है तो इससे दिल को स्वस्थ रखा जा सकता है.

इस शोध में नौजवानों के एक ऐसे समूह को शामिल किया गया, जिन्हें व्यायाम जैसी चीजों के लिए वक्त नहीं मिल पाता या किसी वजह से इनकी दिनचर्या में इस तरह की कोई भी चीजें शामिल नहीं हैं. इस ग्रुप के लोगों को दिन में तीन बार तेज गति से सीढ़ियों से चढ़ने और उतरने को कहा गया और ऐसा इन्होंने छह सप्ताह में तीन बार हर रोज किया.

शोधकर्ताओं के मुताबिक, इन समूह के व्यक्तियों में वाकई में दूसरे ग्रुप के सदस्य जिन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया, की अपेक्षा अंतर पाया गया. ‘स्टेअर स्नैकिंग’ की इस प्रभावशाली उपयोगिता के बारे में शोधकर्ताओं का निष्कर्ष कई पत्रिकाओं में भी प्रकाशित हुआ है.
(एजेंसी से इनपुट)

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.