प्रेग्नेंसी में सही तरीके से खानपान की आवश्यकता होती है. जिससे मां और बच्चे को सही पोषण मिल सके. इसलिए ये जानना बहुत जरूरी है कि खानपान कैसा हो और कितना हो.

डॉक्टर्स भी कहते हैं कि गर्भावस्था ऐसा समय है, जब मां को अच्छे पोषण की जरूरत होती है. इस दौरान सही पोषण बच्चे के विकास और मां के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए जरूरी होता है. इसलिए प्रेग्नेंसी में माताओं को ध्यान रखना चाहिए कि उनके पोषण में विटामिन और मिनरल्स की कमी न हो. गर्भावस्था के दौरान सही डायट चार्ट बनाना और उसका पालन करना जरूरी है.

Tips: नहीं आती नींद तो बहुत काम आएंगे ये उपाय, आजमाकर तो देखें…

गर्भवती माताओं के लिए अपने पोषण की जरूरतों का खास ध्यान रखने में मदद करने के लिए अपोलो हॉस्पिटल्स की सीनियर कन्सलटेन्ट, न्यूट्रिशनिस्ट डॉ. प्रियंका रोहतगी ने इस कुछ टिप्स दिए हैं-

– गर्भावस्था के दौरान आप जो भी आहार लेती हैं, उससे न केवल आपके शरीर को पोषण मिलता है, बल्कि पेट में पल रहे बच्चे का भी विकास होता है. हर दिन के साथ आपकी मैक्रो एवं माइक्रो न्यूट्रिएन्ट्स की जरूरत बढ़ती जाती है.

pregnancy-2

– आपको हर ग्रुप का भोजन अपने आहार में शामिल करना चाहिए. इससे आपके लिए यह ध्यान में रखना आसान हो जाता है कि आप क्या खा रही हैं. जरूरी है कि हर भोजन में कम से कम तीन ग्रुप संतुलित मात्रा में शामिल हों. जंक फूड के सेवन से बचें क्योंकि इससे बेवजह आपका वजन बढ़ेगा और पोषक पदार्थों की कमी होगी.

– आमतौर पर हमारे देश में गर्भावस्था के दौरान ऐसा खाना खाने की सलाह दी जाती है, जो बहुत सारे घी में बना हो. हालांकि इस तरह के आहार के अपने फायदे हैं, लेकिन इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए. नहीं तो वजन तेजी से बढ़ता है और बच्चे के जन्म के बाद वजन कम करना बहुत मुश्किल हो जाता है. इस दौरान सक्रिय रहें और सेहतमंद आहार लें.

Tips: क्‍या लंच-डिनर के बाद पीनी चाहिए चाय? क्‍या होता है असर?

– आहार में सभी समूहों के पोषक पदार्थ शामिल होने चाहिए जैसे काबोर्हाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन व मिनरल्स और डेयरी उत्पाद.

pregnant-woman

इसके साथ डॉ. प्रियंका रोहतगी ने अपनी भूख को ठीक तरह से प्रबंधित करने के सुझाव दिए हैं, जैसे-

– प्रेग्नेंसी में बहुत ज्यादा भूख लगती है और ज्यादातर महिलाएं भूख लगने पर जंक फूड खाना चाहती हैं. ऐसे भोजन में काबोहाइड्रेट/ वसा भरपूर मात्रा में होते हैं लेकिन पोषक पदार्थो की कमी होती है.

– इसी तरह अगर आपको कोई भोजन अच्छा नहीं लग रहा, जो आपकी सेहत और बच्चे के विकास के लिए जरूरी है तो अपने डायटीशियन से बात कर इसका कोई विकल्प लें ताकि आपकी पोषण संबंधी सभी जरूरतें पूरी हो सकें.

– दिन में दो से तीन बार भरपेट खाने की बजाए कम मात्रा में बार-बार खाएं. इससे पाचन की समस्या नहीं होगी. इसके अलावा नियमित रूप से थोड़ा बहुत व्यायाम करें, जिससे शरीर में हॉर्मोंस का संतुलन बना रहेगा और आप गर्भावस्था के दौरान फिट और चुस्त बनी रहेंगी.
(एजेंसी से इनपुट)

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.