नई दिल्ली: सर्दियां आते ही लोग गाजर, चुकंदर या वेजिटेबल जूस पीते हैं. लेकिन क्या कभी आपने व्हीटग्रास का जूस पीया है? व्हीटग्रास ताजे अंकुरित गेहूं के पौधे की पहली पत्तियां होती हैं, जिनका उपयोग भोजन, पेय पदार्थ या आहार अनुपूरक के रूप में किया जाता है. इसे ठंडा, सूखा या ताजा परोसा जाता है और इसीलिए यह गेहूं के माल्ट से अलग होता है. व्हीटग्रास को गेहूं के माल्ट की तुलना में लंबा उगाया जाता है. व्हीटग्रास जूस के रोजाना इस्तेमाल से कई तरह की बीमारियों को दूर करने में मदद मिल सकती है. आइए जानते हैं व्हीटग्रास से मिलने वाले फायदों के बारे में-

कोलेस्ट्रॉल करता है कम- व्हीटग्रास जूस कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है. इससे हृदय रोग का खतरा कम हो जाता है. अगर शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाए तो इससे दिल की बीमारियों और स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है.

ब्लड शुगर को करता है संतुलित- व्हीटग्रास का जूस ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में भी मदद कर सकता है और ये तो आप जानते ही होंगे कि अगर शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाए तो उससे कई तरह की गंभीर समस्याएं हो सकती हैं.

डिटॉक्स होता है शरीर – व्हीटग्रास में पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालने का काम करते हैं. उदाहरण के लिए गेहूं के ज्वारे में पाए जाने वाले क्लोरोफिल शरीर को डिटॉक्स करने में हेल्प करता है और साथ ही हेल्दी लिवर फंक्शन को बढ़ावा देता है. जब एक बार आपका शरीर साफ हो जाता है तो शरीर के ऊर्जा स्तर में वृद्धि होती है और इंसान स्वस्थ्य रहता है.

पाचन में सहायक – इसमें विटामिन-बी, एमीनो एसिड और ऐसे एंजाइम्स होते हैं, जो खाना पचाने में मदद करते हैं. इसके अलावा रोजाना इसका सेवन ब्लड सर्क्युलेशन को ठीक रखने में भी मदद करता है.