अक्सर लोग काम में इतने मस्त होते हैं कि लंबे समय तक यूरीन (Urine) पास नहीं करते. यूरीन आ रहा तो भी उसे रोके रखते हैं. आखिर ऐसा करने से शरीर पर क्या असर होता है?

Tips: अंडरआर्म्स और भीतरी जांघों का कालापन दूर करने के देसी उपाय…

सबसे पहला असर ये होता है कि इससे मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं. यूरीन जाने की इच्छा तब होती है जब ब्लैडर फुल होता है. अगर आप यूरीन रोके हुए बैठे रहते हैं तो इससे ब्लैडर की मांसपेशियों पर असर पड़ता है. मांसपेशियां कमजोर होने का खतरा रहता है.

अगला असर जानकर शायद आप हैरान रह जाएं. पर ये सच है. ज्यादा देर तक यूरीन रोके रहने से यूरीन के टॉक्सिक तत्व किडनी में वापस चले जाते हैं.

Tips: शादीशुदा जीवन में चाहते हैं बहार तो हर हफ्ते ये सब्जी खाएं एक बार…

Urine

इससे संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है. ज्यादा देर तक यूरीन रोकने से इसका रंग भी बदलना शुरू हो जाता है. यही नहीं, इसकी वजह से जो इन्फेक्शन होते हैं वो किडनी खराब करने के लिए काफी हैं.

डॉक्टर्स कहते हैं कि यूरीन रोकने की वजह से कई लोगों को उल्टी आने की समस्या होती है. लगातार इस आदत को बनाए रखने पर भूख कम लगना जैस समस्याएं शुरू हो जाती हैं.

हफ्ते में एक बार खाएं ये दाल, इंप्रूव होगी मैरिड लाइफ, मिलेंगे ये फायदे…

कई शोधों में भी ये बात सामने आई है कि यूरीन रोकने से किडनी में स्‍टोन बनता है. पहले ब्लेडर और उसके आसपास दर्द शुरू होता है. फिर वालो के ब्लेडर में दर्द होता है. फिर स्टोन बनने की शुरुआत होती है. क्योंकि यूरीन में यूरिया और अमिनो एसिड जैसे टॉक्सिक तत्व होते हैं.

डॉक्टर्स कहतेे हैं कि हर एक मिनट में दो एमएल यूरीन ब्लेडर में पहुंचता है, जिसे हर दो घंटे के बीच खाली कर देना चाहिए. अगर यूरीन नहीं आ रहा है तो भी चार घंटे में एक बार बाथरूम जाकर यूरीन पास करने बैठें.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.