अक्‍सर ऐसा कहा जाता है कि अधेड़ उम्र आते-आते महिलाओं में सेक्‍स के प्रति उदासीनता आ जाती है. उनमें वे उत्‍साह नहीं रहता जो पहले हुआ करता था. पर ऐसा होता क्‍यों है? Also Read - 5 सूपर फूड्स जो बढ़ा देंगे आपका सेक्सुअल स्टेमिना, रोजाना उपयोग के हैं और भी कई फायदे

Also Read - Alert: Periods के दौरान अक्‍सर ये 6 गलतियां करती हैं लड़कियां, रखें ध्‍यान...

शादीशुदा औरतों के लिए पहला Extra Marital Dating App, आ रहे लाखों यूजर्स, क्‍या कर सकते हैं यहां? Also Read - Sexual Health: Sex को लेकर ये Myth पालते हैं लोग, बुढ़ापे में भी नहीं बदलती सोच, जानें सच

डॉक्‍टर्स कहते हैं कि इसकी कई वजहें हो सकती हैं. कई शोधों में ये भी बात सामने आई है कि महिलाओं में 40 की उम्र के बाद सेक्‍स ड्राइव कम हो जाती है.

भारतीय परिप्रेक्ष्‍य में देखा जाए तो इसकी ये वजहें डॉक्‍टर्स गिनाते हैं-

– सबसे पहला कारण है कि इस उम्र में महिलाओं के शरीर में होने वाले बदलाव. हार्मोंस बदलाव की वजह से उनके इमोशंस में भी काफी बदलाव आते हैं. जिससे सेक्‍स के प्रति अनिच्‍छा उत्‍पन्‍न होती है.

– मानसिक बीमारी जैसे डिप्रेशन, तनाव की स्थिति में भी यह इच्छा धीरे-धीरे खत्‍म होने लगती है. इसके अलावा कई बीमारियों जैसे थायराइड आदि में सेक्स की क्षमता घटती है.

– परिवार के लिहाज से चालीस की उम्र बेहद महत्‍वपूर्ण होती है. इस उम्र में ज्‍यादातर महिलाएं परिवार, बच्‍चों से जुड़ी अहम जिम्‍मेदारियां निभाती हैं. ऐसे में समय का अभाव, अतिरिक्‍त काम का दबाव इस तरह की अनिच्‍छा उत्‍पन्‍न करता है.

Tips: सेक्‍स के बाद ये काम है बेहद जरूरी, वरना लग सकती है जानलेवा बीमारी…

– अक्‍सर उम्र के इस पड़ाव पर पुरुष और महिलाएं, अपनी-अपनी जिम्‍मेदारियों के बीच एक-दूसरे के लिए समय नहीं निकाल पाते. जिससे उनके बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं.

– इस उम्र में महिलाओं में टेस्टोरॉन हार्मोन का स्तर गिरता है, जिससे सेक्स के प्रति अरूचि पैदा होती है. मीनोपॉज होने तक यह इच्छा थोड़ी बहुत बनी रहती है, लेकिन इस दौरान और इसके बाद ये खत्‍म होती जाती है.

– एक बड़ी वजह है महिलाओं का डिप्रेशन में होना. उन्‍हें पता ही नहीं चलता कि वे डिप्रेशन की शिकार हो गई हैं. अवसाद की वजह कई हो सकती हैं. इनमें पारिवारिक समस्‍याओं से लेकर गर्भनिरोधक गोलियों का प्रयोग, ब्लड प्रेशर कम करनेवाली दवाईयों का सेवन तक शामिल है.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.