नई दिल्‍ली: कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री येदियुरप्‍पा तीसरी बार प्रदेश के सीएम बने हैं. इससे पहले वे साल 2007 में 7 दिन के लिए और साल 2008 में 3 साल 2 महीने के लिए सीएम बने थे. Also Read - कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 40 हजार पार, 73 और मरीजों की मौत

तमाम हंगामों के बीच शपथ ग्रहण समारोह में येदियुरप्‍पा अपने पुराने स्‍टाइल में दिखे. सफेद सफारी सूट और उस पर हरा शॉल. आपको जानकर हैरानी होगी कि साल 2008 में भी येदियुरप्‍पा ने जब प्रदेश के मुख्‍यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी तो उन्‍होंने सफेद सफारी पर हरा शॉल ले रखा था. Also Read - कर्नाटक: बेंगलुरु के बाद इन दो जिलों में भी लगा लॉकडाउन, विपक्षी दलों का पूरे राज्य में लॉकडाउन का आग्रह

yeddyurappa takes oath as CM Also Read - Coronavirus in Karnataka Update: कोविड-19 के कुल मामलों में से 25.92 प्रतिशत मामले अकेले बेंगलुरु से

उनके साथ काम करने वाले जानते हैं कि यदियुरप्‍पा ज्‍यादातर सफेद सफारी सूट ही पहने दिखते हैं. चाहे कोई भी मौका वो इसी ड्रेस में रहते हैं. खबरें आती रहती हैं कि येदियुरप्‍पा जो करते हैं, ज्‍योतिषियों से सलाह लेकर करते हैं. लोगों को कहना है कि सफेद रंग को वो अपने लिए लकी मानते हैं. इसलिए राजनीति, धार्मिक कार्यों में वे इसी अंदाज में दिखाई देते हैं.

बदला था नाम
कहा जाता है कि साल 2007 में एक ज्योतिषी के कहने पर बीएस येदियुरप्पा ने अपने नाम की स्पेलिंग बदल ली थी. पहले येदियुरप्पा Yediyurappa लिखा करते थे पर बाद में वे उन्‍होंने इसे बदलकर Yeddyurappa कर दिया. मीडिया में खबरे आईं कि उन्‍होंने राजनीति में अपनी पैठ जमाने के लिए ये सब किया था.

shapath

yeddy at raj bhavan

तीसरी बार बने सीएम
बता दें कि येदियुरप्पा तीसरी बार कर्नाटक के सीएम बने हैं. लेकिन दोनों कार्यकाल उनका काफी विवादित रहा है. पहली बार 7 दिन में ही जेडीएस ने येदियुरप्पा से समर्थन वापस ले लिया था तो दूसरी बार भ्रष्टाचार के आरोप में उनकी कुर्सी चली गई थी. अब तीसरी बार वह कितने दिन के लिए सीएम बनते हैं यह देखने वाली बात होगी.