सर्दियों के मौसम में जहां सर्दी-जुकाम परेशान करता है तो वहीं एलर्जी मुसीबत और बढ़ा देती है.

शराब से बनता है ये फेसपैक, चेहरे पर आती है गजब की रौनक!

– माइक्रोस्‍कोपिक एलर्जी के लक्षण- बिस्‍तर, गद्दे, कालीन और फर्नीचर से उड़ने वाली धूल के कारण ये एलर्जी होती है.

कैसे करें बचाव
गद्दे, बॉक्‍स स्प्रिंग्‍स और तकिए पर डस्‍ट प्रूफ कवर बिछाएं. धूल के कणों को खत्‍म करने के लिए कवर को नियमित रूप से गर्म पानी से धोएं. हफ्ते में एक बार कालीन पर वैक्‍यूम का इस्‍तेमाल करें.

खजूर से बढ़ती है सेक्‍स पॉवर, इन बीमारियों में असरदार, रोज खाएं…

– बाथरूम और बेसमेंट जैसी जगहों में नमी होने से दिवारों में फफूंदी लगने का खतरा बढ़ जाता है. एयरबोर्न फफूंदी से अस्‍थमा के लक्षण पैदा होने के चांस बढ़ जाते हैं.

कैसे करें बचाव
फफूंदी से बचने के लिए पाइपलाइन से जुड़ी समस्‍या जैसे पानी का लीक होने आदि को ठीक करें. नमी वाली क्षेत्रों में वेंटिलेशन को बढ़ाएं. फफूंदी वाली जगहों को पाउडर और पानी की मदद से अच्‍छी तरह साफ करके सुखाएं.

Mushroom खाने से शरीर को मिलता है भरपूर पोषण, बेहद फायदेमंद

– ठंड के दौरान पालतु पशुओं जैसे बिल्‍ली, कुत्‍ता और पक्षियों में रूसी हो जाती है. ठंड के कारण लोग इन पशुओं को लेकर ज्‍यादातर घर के अंदर ही रहते हैं. पशुओं में रूसी बढ़ने से एलर्जी के लक्षण पैदा हो जाते हैं.

कैसे करें बचाव
पशुओं को अपने बेडरूम से बाहर रखें, हो सके तो उन्‍हें ऐसे क्षेत्र में रखें जिस क्षेत्र का इस्‍तेमाल कम किया जाता हो। इसके अलावा उन्‍हें हफ्ते में एक बार नहलाएं.

वो बहाना जिसे बोलकर लोग ऑफिस से सबसे ज्‍यादा छुट्टी लेते हैं! आपने भी ऐसा किया है क्‍या?

– ठंड में कुछ लोग लकड़ी और चिमनी जलाकर घर को गर्म रखने की कोशिश करते हैं. इससे निकला हानिकारक धुआं घर के पर्यावरण को दूषित कर देता है. इस धुएं से अस्‍थमा के लक्षण होने का खतरा बढ़ जाता है.

कैसे करें बचाव
अगर आप घर में कोई लकड़ी जलाते हैं तो ध्‍यान रखें कि वो पुरी तरह से साफ हो. आग जलाने से पहले ध्‍यान रहे कि चिमनी का वो हिस्‍सा खुला रखें जिससे धुआं बाहर निकल सके.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.