Chandra Grahan 2020: चंद्र ग्रहण को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल होते हैं. कई तो यहां तक कहते हैं कि चंद्र ग्रहण के बाद तबाही आती है. सुनामी आ जाती है. कितनी सच्चाई है इनमें? जानें चंद्र ग्रहण से जुड़े हर सवाल का क्‍या जवाब देता है विज्ञान. Also Read - Chandra Grahan 2020: आज चंद्र ग्रहण पर जरूर दान करें ये चीजें, मिलेगी सुख शांति

WOLF MOON ECLIPSE 2020: क्‍यों खास है साल का पहला चंद्र ग्रहण, ऐसे देख सकेंगे LIVE Also Read - Chandra Grahan 2020: आज लगने जा रहा है साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, बरतें सावधानियां, जरूर करें ये काम

सुनामी आएगी क्‍या?
जब सूरज और चांद के बीच में पृथ्वी आती है तब चंद्र ग्रहण लगता है. यानी चांद के एक हिस्से पर सूरज की रौशनी नहीं पड़ती. तभी चंद्र ग्रहण लगता है. ग्रहण की वजह से कभी सुनामी नहीं आती. Also Read - Chandra Grahan 2020: लगने जा रहा है साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें कहां दिखाई देगा और भारत पर क्या होगा इसका असर

ग्रहण के समय चंद्रमा लाल क्‍यों?
जिस समय चंद्र ग्रहण होता है उस वक्त चांद पर सूरज की रोशनी नहीं पड़ती. इसलिए हमें लाल रंग दिखाई देता है. खगोल विज्ञान इसे सीजीगी कहते हैं. यानी सूरज, पृथ्वी और चंद्रमा एक लाइन में हैं.

हम पर क्‍या असर?
नासा के अनुसार, ग्रहण का इंसान पर कोई असर नहीं होता. इससे किसी तरह की कोई बीमारी इंसान को नहीं लगती. ना ही मानसिक स्‍तर पर इसका असर होता है.

सर्दी में Brandy-Rum पीने से क्‍या कम लगती है ठंड? जानें क्‍या है सच…

चंद्र ग्रहण देखने से क्‍या होता है?
चंद्र ग्रहण के समय सूरज की रोशनी चांद पर नहीं पड़ती. इसलिए इसे खुली आंखों से देखा जा सकता है. क्योंकि सूरज की रोशनी का सीधा आंखों से टकराना खतरनाक है. लेकिन चंद्र ग्रहण के समय तो सूरज होता नहीं, इसलिए उसकी खतरनाक रोशनी भी नहीं होती.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.