नई दिल्ली: कई महिलाएं यौन संबंध बनाने के बाद अनवांटेड प्रेग्नेंसी से बचने के लिए गर्भ निरोधक गोलियों का सेवन करती हैं. इन गोलियों की मदद से आप प्रेगनेंट तो नहीं होती लेकिन इसके कुछ दुष्प्रभाव होते हैं. अनचाहे गर्भ से बचने के लिए यूं तो यह तरीका सबसे आरान हैं लेकिन इन गोलियों के नियमित सेवन से महिलाओं की शारीरिक और मानसिक हेल्थ पर बुरा प्रभाव पड़ता है. इन गोलियों का नियमित सेवन हार्मोन असंतुलन का कारण बन सकता है. ऐसे में आज हम आपको इन गोलियों से होने वाले नुकसानों के बारे में बताने जा रहे हैं. आइए जानते हैं. Also Read - Parenting Tips: सर्दियों के मौसम में बच्चों को कभी ना खिलाएं ये चीजें, हो सकता है खतरनाक

मूड स्विंग- इस गोलियों के अत्यधिक सेवन से महिलाओं में मूड स्विंग और चिड़चिड़ापन ज्यादा बढ़ जाता है. जिसका असर रिश्तों पर भी पड़ता है. Also Read - Health Tips: सर्दियों के मौसम में जरूर करें अश्वगंधा की चाय का सेवन, यहां जानें इसे बनाने का तरीका

वजन का बढ़ना- इन गोलियों के नियमित सेवन से महिलाओं में वजन बढ़ने की आशंका होती है. इन गोलियों के सेवन से शरीर के अलग-अलग हिस्सों में फ्लूइट रिटेंशन बढ़ जाता है, जिससे वजन पर नियंत्रण नहीं रहता है. Also Read - Health Tips: अविवाहित और सिंगल रहने वाले लोंगों की लाइफ पर पड़ते हैं ये असर, आप भी जानें

बांझपन- इन गोलियों के नियमित सेवन से अनियमित माहवारी के कारण बांझपन, कामेच्छा में कमी, त्वचा की एलर्जी जैसी समस्याएं भी पैदा हो जाती हैं. इन गोलियों के सेवन से स्तन में सूजन की शिकायत हो सकती है.

अन्य समस्याएं- इन गोलियों के सेवन से शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर काफी कम हो जाता है. जिससे सिर दर्द की दिक्कत शुरू हो जाती है. कुछ मामलों में तो उल्टी, मितली, पेट दर्द, चक्कर आना आदि शिकायतें रहती हैं.