कोरोना के कारण महिलाएं गर्भ धारण करने से भी कर रही हैं परहेज, शोध में सामने आए कारण

एक नई स्टडी से सामने आया है कि कोरोना के प्रकोप के चलते महिलाएं गर्भवती होने से परहेज कर रही है.

Published: January 7, 2022 5:42 PM IST

By Nitesh Srivastava

Baby Name
Baby Name

एक नई स्टडी से सामने आया है कि कोरोना के प्रकोप के चलते महिलाएं गर्भवती होने से परहेज कर रही है. रिपोर्ट के अनुसार न्यूयॉर्क शहर में करीब आधी से ज्यादा महिलाएं जो फिर से गर्भवती होने का प्रयास कर रहीं थी, कोरोना के कारण वह कुछ महीने के लिए रुक गई हैं. स्टडी का निष्कर्ष जामा नेटवर्क की ओपन मैगजीन में छापा गया है.

Also Read:

NYU ग्रॉसमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने न्यूयॉर्क सिटी में 1179 महिलाओं पर सर्वे के दौरान पाया कि लगभग एक तिहाई महिलाएं , जो महामारी के फैलने से पहले गर्भ धारण के विषय में सोच रहीं थीं, मौजूदा स्थिति को देखते हुए या तो उन्होंने अपने प्रयास को कुछ दिनों के लिए टाल दिया है या फिर इस पर विचार करना ही छोड़ दिया है.

एपीडीमिलॉजिस्ट (महामारी वैज्ञानिक) और इस स्टडी की अगुवाई कर रहीं लिंडा कहन का कहना है कि हमारी स्टडी में सामने आया कि कोविड-19 के प्रकोप के कारण महिलाएं अपने परिवार के विस्तार से पहले बार बार सोच रही हैं, कुछ मामलों में तो महिलाओं ने बच्चों की संख्या को ही कम कर दिया है.

कहन का कहना है कि महामारी के दीर्घकालिक परिणामों का यह एक उदाहरण है, क्योंकि बढ़ती उम्र में महिलाओं के लिए गर्भ धारण करना जोखिम भरा हो सकता है, कई बार यह मां के साथ साथ नवजात के लिए भी जोखिम भरा हो जाता है. इसके अलावा ज्यादा उम्र मे गर्भ धारण करने का इलाज भी मुश्किल और खासा महंगा होता है.

लिंडा कहन के अनुसार, इस सर्वे में शामिल हुईं ज्यादातर महिलाओं के पहले से 3 साल या उससे कम उम्र के बच्चे थे. ये नतीजे दर्शाते हैं कि न्यूयॉर्क जैसे शहर में जब महामारी अपने चरम पर पहुंची तो बच्चे की देखभाल करना कितना मुश्किल था, इसके बाद लगे लॉकडाउन ने मुश्किलों को और बढ़ाया, लिहाजा अब महिलाएं बच्चों के बारे में सोचने से परहेज कर रहीं हैं.

वहीं इससे पहले की कई रिपोर्ट से यह साफ हो चुका है कि संयुक्त राज्य अमेरिका में कोरोना महामारी के दौरान जन्मदर में गिरावट आई थी. हाल के आंकड़ों से पता चला है कि पिछले साल के आखिरी दो महीनों में इसमें और गिरावट आई है, जिसके कारण सालाना फर्टिलिटी रेट में एक बड़ा अंतर दिखाई पड़ता है.

हालांकि कुछ और रिसर्च में यह भी कहा गया है कि शादी शुदा जोड़ों में बच्चे नहीं पैदा करने के पीछे कुछ अन्य कारण भी जिम्मेदार हैं. कई परिवार ज्यादा स्ट्रेस और व्यस्त जिंदगी के कारण किसी फैसले पर नहीं पहुंच पाते हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें हेल्थ समाचार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 7, 2022 5:42 PM IST