World Kidney Day 2020: आज वर्ल्‍ड किडनी डे है. हर साल मार्च के दूसरे गुरुवार को वर्ल्‍ड किडनी दिवस के रूप में मनाया जाता है. इसका मकसद है दुनिया भर में लोगों को किडनी की बीमारियों के प्रति जागरुक करना. Also Read - आयुर्वेद में Kidney की बीमारी का इलाज, ये दवा है बेहद असरदार...

किडनी क्‍यों जरूरी

  Also Read - Alert: समय से पहले जन्‍मा है बच्‍चा तो जानें वो किस बीमारी की जद में है!

किडनी हमारे खून से नमक और शरीर में बैक्टीरिया को फिल्टर करती है. जब किडनी में नमक का संचय हो जाता है तो फिर उपचार की जरूरत होती है. किडनी में विषाक्त पदार्थ जमा हो जाते हैं और पथरी इत्यादि समस्यायें हो सकती हैं इसलिए समय-समय पर इसकी सफाई भी जरूरी है.

किडनी को रखें साफ

 

– लाल अंगूर में विटामिन-सी, ए और बी6 होता है. साथ ही इसमें फोलेट, पोटैशियम, आयरन, कैल्शियम भी पाया जाता है. इसे खाने से आपको कब्ज, थकान और पेट से जुड़ी समस्याएं नहीं होतीं.

– विटामिन सी शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में सहायक होता है. रोज एक गिलास पानी में एक नींबू का रस निचोड़कर पीने से किडनी संबंधी बीमारियों में लाभ होता है.

– धनिया में मैंगनीज, आयरन, मैग्निशियम, विटामिन सी, विटामिन के और प्रोटीन होता है. किडनियों की सफाई के लिए धनिया बहुत फायदेमंद है.

– अदरक में आयरन, कैल्शियम, आयोडीन, क्लो‍रीन व विटामिन सहित कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं. जो किडनी से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देते हैं.

– भारतीय रसोई की एक खास चीज है अजवायन. खाने का स्वाद बढ़ाने से लेकर कई बीमारियों में इलाज के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है. अजवाइन पाचक और पित्तवर्धक होती है. यह पेट से जुड़ी सभी बीमारियों में लाभकारी है.

– करौंदे में विटामिन C प्रचुर मात्रा में होने के साथ-साथ अत्यधिक एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है. करौंदा विटामिन E तथा K का भी अच्छा स्त्रोत है. इससे हमें इन विटामिनों के अतिरिक्त आयरन, कैल्शियम, पोटैशियम, जिंक इत्यादि मिनरल्स भी प्राप्त होते हैं. यह किडनी से यूरिक एसिड को बाहर निकालता है.

– लाल शिमला मिर्च में विटामिन ए, सी , बी6, फोलिक एसिड और रेशे पाये जाते हैं. इसके अलावा इसमें पोटैशियम की मात्रा भी कम होती है, जो किडनी को साफ रखने में मदद करते हैं.

– दही पाचन क्रिया को तो अच्छा करता ही है साथ ही इसमें प्रोबायोटिक बैक्टीरिया होता है जो किडनियों की सफाई भी करता है. इसमें मौजूद गुड बैक्टीरिया इम्यून सिस्टम को भी बेहतर बनाते हैं.