रायपुर: छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए नाम वापसी के बाद सात लोकसभा क्षेत्रों में 123 उम्मीदवार शेष बचे हैं. राज्य के सभी 11 लोकसभा क्षेत्रों के लिए कुल 166 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि लोकसभा निर्वाचन के तीसरे चरण के लिए नाम वापसी के अंतिम दिन सोमवार को 15 उम्मीदवारों ने नामवापस लिए. अब अंतिम चरण के लिए 123 उम्मीदवार चुनाव मैदान में शेष हैं.

इसके साथ ही तीनों चरणों में राज्य की 11 लोकसभा सीटों के लिए कुल 166 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. पहले चरण में बस्तर लोकसभा सीट के लिए सात उम्मीदवार तथा दूसरे चरण में राजनांदगांव, कांकेर और महासमुंद लोकसभा सीट के लिए 36 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. अधिकारियों ने बताया कि तीसरे चरण में राज्य के सात लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 149 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किया था. जिसमें से 11 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र निरस्त किए गए थे. शेष 138 उम्मीदवारों में 15 अभ्यर्थियों ने सोमवार को नाम वापस ले लिया. नाम वापसी के अंतिम दिन कोरबा में सबसे अधिक पांच उम्मीदवारों ने नाम वापस लिया वहीं रायगढ़ और सरगुजा से किसी भी उम्मीदवार ने अपना नाम वापस नहीं लिया.

लालू की जमानत याचिका पर CBI ने कहा, बेल होने पर चुनावी कार्यक्रम में हो सकते हैं शामिल

नाम वापसी के अंतिम दिन दुर्ग से चार, जांजगीर से तीन, बिलासपुर से दो तथा रायपुर से एक उम्मीदवार ने अपना नाम वापस लिया. इसके साथ ही तीसरे चरण के लिए कुल 123 उम्मीदवार शेष बचे हैं. अधिकारियों ने बताया कि तीसरे चरण के लिए नाम वापसी की समय सीमा समाप्त होने के बाद सबसे अधिक बिलासपुर और रायपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में 25 उम्मीदवार, वहीं सरगुजा लोकसभा क्षेत्र के लिए सबसे कम 10 उम्मीदवार मैदान में शेष हैं. राज्य में तीसरे और अंतिम चरण के लिए रायपुर और बिलासपुर में 25, दुर्ग में 21, कोरबा में 13, रायगढ़ में 14, जांजगीर में 15 तथा सरगुजा में 10 उम्मीदवारों के लिए मतदाता 23 अप्रैल को मतदान करेंगे.

छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों के लिए तीन चरणों में 11 अप्रैल, 18 अप्रैल और 23 अप्रैल को मतदान होगा. पहले चरण में नक्सल प्रभावित बस्तर लोकसभा सीट के लिए, दूसरे चरण में कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद लोकसभा सीट के लिए तथा तीसरे चरण में रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़, कोरबा, जांजगीर चांपा, दुर्ग और सरगुजा लोकसभा सीट के लिए मतदान होगा. लोकसभा निर्वाचन के दौरान तीन चरणों में राज्य के एक करोड़ 89 लाख 16 हजार 285 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. इसके लिए 15 हजार 365 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं.